गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर जिले की 30 फीसद आबादी शहर का हिस्सा बनेगी। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद जिला प्रशासन ने इसकी कवायद तेज कर दी है। डीएम के. विजयेंद्र पाण्डियन ने शहर के विस्तार का प्रस्ताव तैयार करने के लिए नगर आयुक्त अंजनी कुमार सिंह को निर्देश दिए हैं।

प्रस्‍ताव तैयार करने में जुटा नगर निगम

इधर, नगर आयुक्त ने नगर निगम सीमा विस्तार को लेकर प्रस्ताव तैयार करने की जिम्मेदारी अपर नगर आयुक्त द्वितीय अनिल सिंह को सौंपी है। वह पूर्व में बने प्रस्ताव और वर्तमान में शहर का दायरे बढ़ाने की संभावना का आंकलन करने में जुट गए हैं।

90 वार्ड करने का था प्रस्ताव

वर्ष 2017 में नगर निगम क्षेत्र के विस्तार की चर्चा चली थी। तब 43 गांवों को शामिल करने की योजना बनाई गई थी। साथ ही वार्डों की संख्या 90 करने की योजना थी। वर्तमान में नगर निगम में 70 वार्ड हैं। नगर निगम का दायरा 147 वर्ग किमी है। सीमा विस्तार से न सिर्फ निगम की आय बढ़ेगी वरन लोगों को भी काफी सहूलियत मिलेगी।

दो गुनी हो जाएगी शहर की आबादी

2011 की जनगणना के अनुसार गोरखपुर शहर की आबादी 6.37 लाख और जिले की आबादी 44.41 लाख है। इस हिसाब से यहां पर शहरी आबादी केवल 15 फीसद ही है जबकि नए परिसीमन में शहरी आबादी 30 प्रतिशत होनी है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस