गोरखपुर (जेएनएन)।  दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के मतदान से ठीक दो दिन पहले मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ। विधि विभाग में दीवार पर प्रचार स्टीकर चिपकाने और कक्षाओं में व्यवधान पहुंचाने से रोकने पर कुछ युवकों ने तीन शिक्षकों के साथ अभद्रता की। परिसर में रखे गमले तोड़ दिए। यह देख विधि छात्र भी आक्रोशित हो उठे और युवकों को दौड़ा लिया, दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुई। मौके पर पहुंची पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया, जिसमें विधि छात्रों का नेतृत्व कर रहे अध्यक्ष पद प्रत्याशी अनिल दुबे, महामंत्री पद प्रत्याशी आलोक सिंह सहित आधा दर्जन छात्र घायल हो गए। इस उपद्रव के बाद कुलपति ने छात्रसंघ चुनाव स्थगित कर दिया।
करीब चार घंटे तक परिसर में आंदोलन, हंगामा चलता रहा। विश्वविद्यालय शिक्षक संघ ने घटना की निंदा की है। वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से अध्यक्ष प्रत्याशी रंजीत सिंह श्रीनेत ने पुलिस को ज्ञापन सौंप कर विधि विभाग के शिक्षक और छात्रों पर मारपीट का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। कुलसचिव ने गुरुवार तक के लिए विश्वविद्यालय बंद कर दिया है। परिसर में फिलहाल तनावपूर्ण शांति है।

इसी दौरान अध्यक्ष पद का एक अन्य प्रत्याशी अनिल दुबे छात्रों को लेकर मौके पर पहुंच गया। लॉ के छात्रों के उसका विवाद हो गया। दोनों पक्षों में विवाद गहराता देख पुलिस ने लाठी चलाई। इससे कई छात्रों को चोटें भी आईं है। अध्यक्ष पद के प्रत्याशी अनिल दुबे और आलोक सिंह को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

Posted By: Dharmendra Pandey