गोरखपुर, जेएनएन। 21 दिनों का लॉकडाउन (संपूर्ण बंदी) सफल रहे इसलिए हर कोई खुद को माहौल के अनुसार ढालने में लगा है। इसमें घरों में रहने वाले बुजुर्ग भी अहम योगदान दे रहे हैं। उन्होंने ठान लिया है कि हर हाल में लॉकडाउन रहने तक वह अपने घरों अथवा कैंपस से बाहर नहीं निकलेंगे। इसमें कहीं उनकी सेहत बाधक न बने, इसलिए उन्होंने सुबह का टहलना बंद नहीं किया है। बाहर की बजाय वह अब अपने घरों व कैंपस में ही टहल कर समय काट रहे हैं।

बुजुर्गों ने बनाई निश्चित दिनचर्या

शहर के गोरखधाम इंक्लेव में 63 परिवार रहते हैं। इनमें रहने वाले बुजुर्गों की संख्या 100 से अधिक है। पहले दिन कुछ परेशानी अवश्य हुई, पर सोमवार से यहां के बुजुर्गों ने खुद की एक निश्चित दिनचर्या बना रखी है। इंक्लेव में रहने वाली गायत्री देवी व उनके पति रामगोपाल खेमका,  रामनिवास सहित तमाम बुजुर्ग सुबह-शाम अपार्टमेंट के गलियारे, बालकनी, कैंपस आदि में टहल रहे हैं। इसके बाद वहीं परिसर में ही लोग थोड़ी बहुत कसरत भी कर ले रहें हैं।

बाहर निकलने का सबका समय अलग

अपार्टमेंट में इनकी बड़ी संख्या होने के बावजूद इनकी वहां भीड़ नहीं दिखती। इसकी प्रमुख वजह है कि सभी कैंपस के विभिन्न क्षेत्रों में विचरण करते हैं। बाहर निकलने का समय अलग है। इसके अलावा वह एक दूसरे से दूरी बनाकर भी चल रहे हैं। दोपहर में प्रत्येक घर में भागवत गीता का पाठ हो रहा है। अपार्टमेंट में रहने वाले कपिल श्रीवास्तव कहते हैं कि गोरखधाम अपार्टमेंट इस समय अपने नाम को चरितार्थ कर रहा है। यही स्थिति श्रीजी अपार्टमेंट व बसंत इंक्लेव की भी है।

बच्चों को भी दे रहे फिटनेस का मंत्र

श्रीजी अपार्टमेंट रहने वाले दीपक जायसवाल का कहना है कि यहां रहने वाले बुजुर्गों को देखकर बच्चे भी योगा आदि तरीकों से खुद को फिट रखने का प्रयास कर रहे हैं। राजेन्द्र इंक्लेव की अदिति ने दादा को कैंपस टहलता देख खुद भी टहलना शुरू किया है।

दूसरों को भी दे रहे सलाह

अपार्टमेंट में रहने वाले बुजुर्ग अपने साथ-साथ दूसरों को भी सचेत कर रहे हैं। वह फोन पर अपने परिचितों को संदेश दे रहे हैं कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लोग पूरी सावधानी अपनाएं। लोग एक दूसरे से दूरी बनाकर रहें। स्वच्छता पर विशेष ध्यान दें। बाहर न निकलें। हाथों को कई बार साबुन से धुलें। 

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस