गोरखपुर, जागरण संवाददाता। कोरोनाकाल में बिना परीक्षा के शनिवार को सबसे पहले काउंसिल फार द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनिशेन (सीआइएससीई) ने दसवीं एवं 12वीं का रिजल्ट घोषित कर दिया। आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर घोषित परिणाम में हाईस्कूल व इंटर के छात्र-छात्राओं ने बेहतर प्रदर्शन किया है। कुछ छात्र रिजल्ट से जहां संतुष्ट हैं तो कुछ अ'छे अंक आने के बाद खुश जरूर हैं, लेकिन उनका कहना है कि नंबर तो अच्‍छे आए हैं, लेकिन यदि परीक्षा हुई रहती तो और अच्‍छा लगता।

बिना परीक्षा के नंबर अच्‍छे आने के बाद भी मायूस हैं छात्र

जागरण से बातचीत में इंटर में 98.75 फीसद अंक के साथ उत्तीर्ण हुईं आरपीएम एकेडमी की छात्रा पायल मौर्या ने कहा कि मुझे हाईस्कूल से अधिक अंक मिले हैं। परीक्षा के बाद यह अंक मिलते तो अधिक संतुष्टि मिलती। इस नंबर को दूसरों को बताने में अ'छा नहीं लग रहा है। क्योंकि सभी यही कहेंगे बिना परीक्षा के अंक मिले हैं। इसी तरह 99.8 अंक के साथ उत्तीर्ण हुए लिटिल फ्लावर स्कूल धर्मपुर के छात्र नमन शंकर श्रीवास्तव ने कहा कि न परीक्षा न होने से तनाव जरूर था कि रिजल्ट कैसा होगा, लेकिन रिजल्ट आया तो हाईस्कूल से भी अ'छे नंबर हासिल हुए हैं। अब हम आगे आइआइटी की तैयारी करेंगे।

रिजल्ट के बाद कैरियर को लेकर संजीदा दिखे विद्यार्थी

आरपीएम एकेडमी की आंचल वर्मा को इंटर में 98.25 फीसद अंक मिले हैं। उनका कहना है कि अंक अ'छे मिले हैं। अब हम आगे की तैयारी में जुटेंगे, ताकि आगे अपना कैरियर बना सके।97.5 फीसद अंक हासिल करने वाली आरपीएम की ही छात्रा संजना गुप्ता का कहना है कि उन्हें हाईकूल से अ'छे नंबर मिले हैं। पहले की सभी परीक्षाओं में भी अ'छे नंबर आऐ थे। इसलिए उम्मीद थी कि इंटर रिजल्ट भी अ'छा होगा। परीक्षा परिणाम हमारे मुताबिक आया है। अब हम आगे नीट की तैयारी करेंगे।

उम्मीद से बेहतर परिणाम पर स्कूलों की बल्ले-बल्ले

रिजल्ट उम्मीद से बेहतर आने पर छात्र ही नहीं स्कूलों के शिक्षक भी खुश हैं। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि रिजल्ट आने से न सिर्फ स्कूलों का रिकार्ड सुधरा है बल्कि अच्छे नंबर पाने वाले छात्रों को अपना करियर संवारने का भी एक अच्छा अवसर मिला है।

शहर के लिटिल फ्ललावर स्कूल धर्मपुर, आरपीएम एकेडमी, स्‍‍‍‍टेप‍िंंग स्टोन, सेंट जोसफ स्कूल खोराबार, सेंट जोसफ स्कूल गोरखनाथ, एचपी चिल्डे्न एकेडमी के न सिर्फ हाईस्कूल बल्कि इंटर के भी परिणाम शत-प्रतिशत रहे हैं। इन सभी विद्यालयों के दर्जनों छात्र-छात्राओं ने 94 फीसद से अधिक अंक हासिल कर विद्यालय का मान बढ़ाया है। इनमें से अधिकांश छात्र-छात्राएं ऐसे हैं जिनका प्रदर्शन हाईस्कूल से भी बेहतर रहा है।

आइसीएसई ने बड़ी ईमानदारी के साथ बोर्ड का रिजल्ट घोषित कर दिया है। रिजल्ट को परीक्षार्थी परेशान थे कि रिजल्ट कैसा आएगा। परिणाम के आने के बाद उनकी सभी परेशानी दूर हो गई है। साथ ही वह इस रिजल्ट से संतुष्ट भी हैं। - अजय शाही, निदेशक, आरपीएम एकेडमी।

कोरोनाकाल में बिना परीक्षा दिए छात्रों को अच्छे नंबर मिले हैं। बोर्ड ने पूरी पारदर्शिता के साथ परिणाम दिया है। अब छात्रों को आगे की तैयारी पूरी मेहनत से करनी होगी, ताकि उनका कैरियर बेहतर हो सके। - राजीव गुप्ता, निदेशक, स्टेप‍ि‍ंंग  स्टोन स्कूल।

हमारे विद्यालय का रिजल्ट शत-प्रतिशत रहा है। कुल 166 विद्यार्थियों में से 65 ने 90 फीसद से अधिक अंक हासिल किया है। परीक्षा न होने के बाद भी विद्यालय ने बेहतर रिजल्ट का अपना कीर्तिमान कायम रखा है। - अनन्य शाही, निदेशक, एचपी चिल्ड्रेन एकेडमी।

Edited By: Pradeep Srivastava