गोरखपुर, प्रभात कुमार पाठक। काउंसिल फार द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआइसीएसई) ने 2021-2022 की 10वीं व 12वीं के प्रथम सेमेस्टर की बोर्ड परीक्षा बुकलेट पर कराने का निर्णय लिया है। बोर्ड सीबीएसई की तरह ओएमआर सीट पर परीक्षा नहीं कराएगा। इसको लेकर बोर्ड ने निर्देश जारी कर दिया है। परीक्षा बहुविकल्पीय प्रश्नों पर आधारित होगा। बुकलेट में ही प्रश्न रहेंगे। उत्तर उसी में निर्धारित स्थान पर लिखना होगा। परीक्षा के बाद परीक्षक उसी पर मूल्यांकन करेंगे। जिसके आधार पर परिणाम घोषित होगा।

इन न‍ियमों का करना होगा पालन

बोर्ड ने स्पष्ट कर दिया है कि छात्रों को अलग से न तो कोई प्रश्न पत्र और न ही ओएमआर शीट ही दिया जाएगा। बोर्ड के नए नियम के तहत परीक्षा शुरू होने के पांच मिनट पहले तक परीक्षा कक्ष में प्रवेश मिलेगा। सभी छात्रों को अपना यूनिक आइडी और इंडेक्स नंबर प्रश्न पत्र के उपर लिखना होगा। परीक्षार्थी को अपना उत्तर नीले अथवा काले पेन से लिखना होगा।

ओवरराइटिंग पर कटेंगे नंबर

परीक्षा के दौरान ओवरराइटिंग करनी भारी पड़ सकती है। बोर्ड ने स्पष्ट किया है के ओवरराइटिंग करने पर उस प्रश्न के नंबर काट लिए जाएंगे। बुकलेट (कापी व प्रश्नपत्र) में ही विद्यार्थियों को रफ करने के लिए अलग स्थान निर्धारित होगा। इसके लिए अलग से कोई शीट नहीं मिलेगा।

22 से इंटर व 29 नवंबर से शुरू होगी हाईस्कूल की परीक्षा

बोर्ड की प्रथम सेमेस्टर की 10वीं की परीक्षा 29 नवंबर से शुरू होकर 16 दिसंबर तक चलेगी। जबकि 12वीं की परीक्षा 22 नवंबर से शुरू होकर 20 दिसंबर को समाप्त होगी। दसवीं की परीक्षा एक व 12वीं की परीक्षा डेढ़ घंटे की होगी। जिले में इस बार 20 स्कूलों के लगभग सात हजार विद्यार्थी परीक्षा में शामिल होंगे।

कब कौन सी परीक्षा

हाईस्कूल की परीक्षा सुबह 11 बजे से शुरू होकर 12.30 बजे तक चलेगी। इसके पहले 10.50 से 11 बजे तक प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए दस मिनट अतिरिक्त समय मिलेगा। इसी प्रकार इंटर 12वीं की परीक्षा 2 से 3.30 तक होगी। 1.50 से 2 बजे तक दस मिनट का समय प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए मिलेगा।

सीआइसीएसई ने प्रथम सेमेस्टर की बोर्ड परीक्षा को लेकर संशय दूर करते हुए गाइडलाइन जारी कर दी है। इस बार परीक्षा नए नियमों के आधार पर होगी। इसलिए विद्यार्थियों को काफी सावधानी पूर्वक परीक्षा देने की आवश्यकता है। यदि किसी कारणवश दूसरे सेमेस्टर की परीक्षा स्थगित होती है तो वर्तमान परीक्षा के आधार पर ही बोर्ड परिणाम घोषित कर देगा। - अजय शाही, अध्यक्ष, गोरखपुर स्कूल एसोसिएशन।

Edited By: Pradeep Srivastava