गोरखपुर, जागरण टीम। जरूरतमंदों के इलाज को लेकर मुख्यमंत्री कितने फिक्रमंद हैं, इसकी बानगी गुरुवार को जनता दर्शन के दौरान एक बार फिर देखने को मिली। गोरखनाथ मंदिर के दिग्विजयनाथ स्मृति सभागार में जनता दर्शन के दौरान जब उन्हें कई जरूरतमंद लोग इलाज के लिए आर्थिक मदद की गुहार लगाते दिखे तो मुख्यमंत्री ने उन्हें तो मदद की प्रक्रिया पूरी करने की सलाह तो दी ही, अधिकारियों को भी निर्देश दिया कि इस मामले में कोई कोताही न बरतें। हर जरूरतमंद का इस्टीमेट मंगाकर इलाज में मदद की औपचारिकता पूरी कराएं और उसे लखनऊ भेजें, जिससे इसे लेकर जल्द से जल्द धनराशि जारी की जा सके।

दो दिन के दौरे पर हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

दो दिन के दौरे पर मंगलवार को गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री ने बुधवार की सुबह गुरु दर्शन-पूजन करने के बाद अपने प्रशासनिक दायित्व का निर्वहन करते हुए हमेशा की तरह जनता दर्शन किया। इस दौरान उन्होंने करीब 250 लोगों की समस्या सुनी और समाधान के लिए आश्वस्त किया। लोगों की समस्या सुनने के दौरान वह उसके जल्द निस्तारण को लेकर अधिकारियों को निर्देश भी देते रहे।

जमीन विववाद और पुलिस की कार्रवाई न करने के मामले

हमेशा की तरह ही इस बार भी जनता दर्शन में जमीन विवाद और पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने के ज्यादा मामले आए। इसे लेकर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि वह ऐसे मामलों को तहसील और थाने स्तर पर निस्तारित करना सुनिश्चित करें, जिससे उन्हें जनता दर्शन तक की दौड़ न लगानी पड़े। जनता दर्शन में एडीजी पुलिस अखिल कुमार, डीआइजी जे. रवींदर गौड़, एसएसपी गौरव ग्रोवर, एडीएम सिटी आदि मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें...

Basant Panchami पर गुलाल उड़ाकर ब्रज में होली की शुरुआत करेंगे बांकेबिहारी, आराध्य संग होली खेलने आएंगे भक्त

गुरु अर्चना के बाद की गोसेवा

सुबह की नियमित दिनचर्या के क्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार की सुबह गोरखनाथ मंदिर परिसर में अपने आवास से निकलने के बाद सबसे पहले गुरु गोरक्षनाथ की आराधना की और उसके बाद अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के समाधि स्थल पर जाकर उनका आशीर्वाद लिया। इसी क्रम में मंदिर परिसर का भ्रमण करते हुए वह गोशाला पहुंचे और करीब आधे घंटे गोसेवा में बिताए। अपने प्रिय श्वान कालू और गुल्लू को दुलारना भी वह नहीं भूले। 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट