गोरखपुर, जागरण संवाददाता। विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय उपाध्यक्ष और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महामंत्री चंपत राय ने कहा है कि विश्व हिंदू परिषद अपने स्थापना काल से ही जिन कार्यों को अपने जिम्मे लिया, उसको पूरा किया। श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण भी उन कार्यों में शामिल है। परिषद के समर्पित कार्यकर्ताओं के संघर्ष का ही नतीजा है कि आज जन्मभूमि पर भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण हो रहा है। दिसंबर 2023 तक निर्माण कार्य पूरा हो जाने की उम्‍मीद है। उन्होंने कोटि-कोटि हिंदू समाज के आराध्य भगवान राम के मंदिर के जरिए हमारा देश भारत एकसूत्र बंध जाएगा।

धर्म रक्षा निधि समर्पण कार्यक्रम को किया संबोधित

चंपत राय 21 नवंबर को सरस्वती शिशु मंदिर में विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित धर्म रक्षा निधि समर्पण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। परिषद के वार्षिक क्रिया-कलापों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि इसमें गोरक्षा, अनाथालय, गरीबों के नि:शुल्क चिकित्सा व्यवस्था, वेद विद्यालय और स्वावलंबन केंद्र शामिल हैं। परिषद अपने सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के तहत जो कार्य करता है, उसके लिए समाज से सहयोग के लिए वह वर्ष में एक बार धर्म रक्षा निधि समर्पण का कार्यक्रम आयोजित करता है।

लेफ्टीनेंट जनरल कृष्‍ण मुरारी राय ने की कार्यक्रम की अध्‍यक्षता

कार्यक्रम की अध्यक्षता लेफ्टिनेंट जनरल कृष्ण मुरारी राय ने की। इस दौरान प्रांत अध्यक्ष श्याम बिहारी अग्रवाल, प्रांत संगठन मंत्री, ओमप्रकाश श्रीवास्तव, दुर्गेश त्रिपाठी, डा. डीके सिंह, विष्णु प्रताप सिंह, पुष्पदंत जैन, ई. पीके मल्ल, सरदार जसपाल सिंह, डा. सत्या पांडेय, अतुल सर्राफ, हरेकृष्ण सिंह, आदि मौजूद रहे। संचालन प्रांत उपाध्यक्ष ओंकार ने किया। एकल गीत सुनीषा श्रीवास्तव व गंगा सागर राय ने प्रस्तुत किया। इससे पहले नौसढ़ तिराहे पर पर बजरंग दल के प्रांत सुरक्षा प्रमुख मनोज और जिला संयोजक नवीन चंद्र के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने चंपत राय का भव्य स्वागत किया।

बालकृष्ण सर्राफ को चंपत राय ने दी राम मंदिर की प्रतिकृति

अपने गोरखपुर प्रवास के दौरान चंपत राय प्रतिष्ठित व्यवसायी बालकृष्ण सर्राफ के आवास पर गए और उनका चरण छूकर भगवान श्रीराम के मंदिर की प्रतिकृति भेंट की। 95 वर्षीय बालकृष्ण प्रतिकृति पाकर भाव-विभोर हो गए। चंपत राय ने उन्हें मंदिर निर्माण देखने के लिए अयोध्या आने का निमंत्रण दिया, जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार किया। इस दौरान सेवा भारती के प्रांत अध्यक्ष अतुल सर्राफ, परमेश्वर, श्याम बिहारी अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi