गोरखपुर : पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री कुंवर आरपीएन ¨सह ने संगठन की मजबूती को परखते हुए पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को सुझाव दिया कि गांव-गांव भ्रमण कर केंद्र सरकार की विफलताओं की चर्चा करें। कहा कि लोगों को बताएं कि वर्ष 2014 में भाजपा ने जिन वादों पर लोगों से वोट मांगा, सत्ता मिलने के बाद उसे भुला दिया।

पूर्व केंद्रीय मंत्री कुशीनगर स्थित जिला कांग्रेस कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं से संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हर साल एक लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने का पीएम नरेंद्र मोदी का वादा जुमला साबित हुआ। नोटबंदी के बाद उपजे हालात का जनता भुक्तभोगी है। कांग्रेस के कार्यकर्ता गांवों में जाकर लोगों से पूछें कि क्या उनके जनधन के खाते में 10-15 लाख रुपये आ गए। पीएम ने लोगों को आश्वासन दिया था कि कालाधन ले आएंगे और सबके बैंक खातों में 10 लाख जमा करेंगे। कहा कि भाजपा सरकार गरीबों व किसानों की कभी भी हितैषी नहीं रही। जब-जब केंद्र व प्रदेश में भाजपा की सरकार बनती है, गरीब व मजदूर बदहाल होते हैं। महंगाई बेलगाम हो जाती है, आमजन को भर पेट भोजन जुटाने के लिए मशक्कत करनी पड़ती है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार की विफलताओं को आमजन बताएं, उनसे कहें कि पूंजीपतियों के हितों की सोचने वाली इस सरकार को बदलना होगा। जिस गति से पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की कीमत बढ़ रही है, उसकी मार आम आदमी को ही झेलनी पड़ेगी। उन्होंने भारत बंद की सफलता का श्रेय कांग्रेस के कार्यकर्ताओं व व्यापारियों को दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार बदलने पर हम इसकी भरपाई करेंगे। व्यापारियों का शोषण व उत्पीड़न नहीं होने दिया जाएगा। इस दौरान जिलाध्यक्ष समेत समस्त पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे।

Posted By: Jagran