गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर शहर के इस्लामिया कालेज आफ कामर्स के प्रबंधक, प्रधानाचार्य व उनके सहयोगी के खिलाफ कोतवाली थाना पुलिस गैर इरादतन हत्या व निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने का मुकदमा दर्ज किया है। मलबे में दबकर मरे मजदूर के छोटे भाई ने इनके खिलाफ तहरीर दी। मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस आरोपितों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

यह है मामला

बड़हलगंज थानाक्षेत्र स्थित परसिया मिश्र गांव के ओमप्रकाश वर्मा ने कोतवाली थाने पहुंचकर तहरीर दी। जिसमें उन्होंने लिखा है कि बड़े भाई राजू वर्मा राजघाट के बसंतपुर सराय में किराए पर कमरा लेकर रहते थे। मजदूर कर वह परिवार की जीविका चलाते थे।पिछले एक माह से इस्लामिया कालेज आफ कामर्स में निर्माण कार्य चल रहा था। जिसमें राजू मजदूरी कर रहे थे।

यह हुई थी घटना

बुधवार की शाम निर्माणाधीन पोर्टिको का छत लग रहा था। शाम 6.30 बजे कोरा भवन गिर गया जिसमें राजू व उनके सहयोगी प्रदीप मलबे में दब गए। बचाव दल ने दोनों को निकाला लेकिन मेरे भाई की मौत हो गई, प्रदीप की स्थिति गंभीर है। निर्माण कार्य कालेज के प्रबंधक शोएब अहमद, प्रधानाचार्य जमाल अंसारी और उनके सहयोगी मो. आमिर अपनी देखरेख में करा रहे थे। इन लोगों ने सुरक्षा मानकों का ध्यान नहीं दिया। बिना दीवार की चुनाई कराए ही कमजोर बिम पर छत लगवा दिया, जिससे छत गिर गई।

क्या कहती है पुलिस

प्रभारी थानेदार कोतवाली थाना विज्ञानकर सिंह ने बताया कि आरोपितों की तलाश चल रही है। घायल मजदूर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है।

सगे भाइयों के घर में लाखों की चोरी

राजी जगदीशपुर गांव में सगे भाइयों के कमरे का ताला तोड़कर चोर 90 हजार नकदी समेत दो लाख रुपये कीमत के जेवरात उठा ले गए। गांव के बिजली प्रसाद व सरगनाथ ने झंगहा थाना पुलिस को दी तहरीर में लिखा है कि रात में चोर नकदी, गहने, सामान के अलावा बकरा उठा ले गए।तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस जांच कर रही है।

पोखरे में मिला लापता युवक का शव

लापता युवक का शव नेतवार बाजार के पास पोखरे में मिला।कैंपियरगंज थाना पुलिस के सूचना देने पर पहुंच स्वजन ने पहचान की। सिकंदरपुर गांव निवासी रामअशीष अपनी पत्नी व बच्चों के साथ ननिहाल में रहते थे। दो दिन पहले वह लापता हो गए थे। स्वजन खोजबीन कर रहे थे। इसी बीच नेतवार बाजार के पास पोखरा में शव मिला। कैंपियरगंज थाना पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

Edited By: Pragati Chand