देवरिया, जेएनएन। जिले में परफार्मेंस ग्रांट की धनराशि के घपले में एक पूर्व डीपीआरओ, 15 एडीओ पंचायत, 479 ग्राम पंचायत सचिवों के खिलाफ मंगलवार को मुकदमा दर्ज किया गया है। यह कार्रवाई कोतवाली पुलिस ने सतर्कता अधिष्ठान लखनऊ के इंस्पेक्टर अनिल कुमार यादव की तहरीर पर की है।

537 ग्राम पंचायतों को जारी हुए थे 187 करोड़ रुपये

वित्तीय वर्ष 2016 में 537 ग्राम पंचायतों को 187 करोड़ रुपये जारी किए गए थे। इससे ग्राम पंचायतों में विकास कार्य होने थे, लेकिन इस धन का जमकर दुरुपयोग किया गया। शासन की ओर से कराई गई जांच में गड़बड़ी पकड़ी गई है।

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

तत्कालीन डीपीआरओ शीतला प्रसाद सिंह, सलेमपुर, रुद्रपुर, बैतालपुर, बनकटा, बरहज, भलुअनी, गौरीबाजार, लार, रामपुर कारखाना, भाटपाररानी, देवरिया सदर, देसही देवरिया, तरकुलवा, पथरदेवा व भागलपुर के एडीओ पंचायत के साथ ही 479 ग्राम पंचायतों के तत्कालीन सचिवों के खिलाफ धोखाधड़ी, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में मुकदमा पंजीकृत हुआ है।

सतर्कता अधिष्ठान करेगा जांच

कोतवाल अरुण मौर्या ने बताया कि मुकदमा दर्ज हो गया है और विवेचना सतर्कता अधिष्ठान लखनऊ द्वारा की जाएगी। 

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस