गोरखपुर, जेएनएन। सिद्धार्थनगर की पुलिस ने रविवार को चाय और पान की दुकान पर खड़ी मोटरसाइकिलों का भी चालान काटा। चाय पी रहे लोग दलील देते रहे कि उनके पास सब कागज है। उनके पास हेलमेट है, बावजूद पुलिस ने उनकी एक न सुनी। जो हेलमेट पहन कर जा रहे थे, उन्हें भी पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ा। कुल 109 ई चालन किए गए। ई-चालान के मैसेज जब वाहन स्वामियों तक पहुंचा तो उनके पैर तले जमीन खिसक गई। बांसी व बर्डपुर स्टैंड तिराहे पर दर्जनों ऐसी गाड़ियों को चालान काट दिया जिनके पास वाहन से जुड़े कागजात एवं हेलमेट था।

कई ने मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों से मनमानी की शिकायत की। उन्हें यह कहकर भेज दिया गया कि आन लाइन चालान है। अब तो जुर्माना देना ही होगा। बांसी तिराहे पर एक चाय की दुकान पर चाय पीने के लिए आए सुशील ने बताया कि वह पटरी पर गाड़ी खड़ी कर चाय पी रहे थे। इसी बीच एक सिपाही आकर वाहन का नंबर नोट कर लिया। पुलिसकर्मी से पूछा तो बताया कि उसने कुछ नहीं किया है। घर पहुंचे तो मोबाइल पर चालान होने का मेसेज आया। पांच सौ रुपये जुर्माने की राशि जमा करने को कहा गया है। इसी प्रकार पीके सिंह भी चाय दुकान पर नाश्ता करने गए। सड़क के बगल में दो पहिया वाहन खड़ा कर दिया। एक पुलिस वाला आया और नंबर नोट कर लेते गया। कुछ लोगों ने नंबर नोट करते देखा तो उन्हें बताया।

उन्होंने पुलिस कर्मियों से कहा कि उनके पास समस्त कागजात है। चाहे तो देख लें। पुलिस ने आश्वासन देकर उन्हें भेज दिया। बाद में पता चला कि उनके वाहन का चालान हो चुका है। वाहन चेकिंग का अभियान चलाया जा रहा है।

नियम तोड़ने वाले वाहन चालकों का आनलाइन चालान किया जा रहा है। यदि किसी वाहन का नियम विरुद्ध चालान किया गया तो दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। - दिलीप कुमार सिंह, सीओ सदर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप