गोरखपुर, जेएनएन। ABVP नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी के जागरूकता अभियान चलाने के बाद अब अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने भी इसके पक्ष में मोर्चा संभाल लिया है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद हिंदू राष्ट्रवादी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ा अखिल भारतीय छात्र संगठन है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ एस सुबैय्या ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर आज देशभर भर में भ्रम का माहौल तैयार किया जा रहा है। साजिश के तहत इसे प्रचारित और प्रसारित भी किया जा रहा है। लेकिन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद समाज को ऐसी गतिविधियों से प्रभावित नहीं होने देगी। एबीवीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शनिवार को दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के अमृता कला वीथिका के सभागार में परिषद की केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

नागरिकता संशोधन कानून पर विस्तार से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि तैयार किए जा रहे भ्रम को तोडऩे के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद देशभर में जन जागरूकता अभियान चलाएगी। इसके लिए समस्त शिक्षण संस्थानों में कैंप और शिविर लगाकर छात्रों को इसके बारे में सही जानकारी दी जाएगी। जन जागरूकता अभियान तहत शिक्षण संस्थानों में कार्यक्रमों की शुरुआत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में चाहे जेएनयू हो या चाहे देश के अन्य विश्वविद्यालय के साथ समाज को गुमराह नहीं कर सकते। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद संपूर्ण देश में राष्ट्रहित के विचारों को लेकर अपनी सक्रियता बनाए रखती है। राष्ट्रीय अध्यक्ष, राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी व राष्ट्रीय संगठन मंत्री आशीष चौहान आदि पदाधिकारियों ने दीप प्रज्वलित कर बैठक की शुरुआत की। मीडिया प्रमुख नवनीत शर्मा के अनुसार दो दिवसीय बैठक में देशभर के 87 विशिष्ट प्रतिनिधि शामिल हुए हैं। दो दिनों में वर्ष भर के एजेंडों और प्रस्तावों पर गहन चर्चा होगी और उसपर मुहर भी लगाई जाएगी। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस