गोरखपुर, जागरण संवाददाता : महराजगंज जिले में ठूठीबारी कोतवाली क्षेत्र के लक्ष्मीपुर खुर्द में भूमि बेचने के बाद मिले पैसे के बंटवारे को लेकर अलग रह रहे दो भाइयों में मारपीट हो गई। खूनी संघर्ष में घायल एक भाई की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपित पक्ष मौके से फरार हो गया। पुलिस ने जांच-पड़ताल कर शव को कब्जे में ले लिया है। इस मामले में मृतक के पुत्र की तहरीर पर पांच आरोपितों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश डाली जा रही है।

भूमि बेचने पर मिले पैसे के बंटवारे को लेकर चल रहा था विवाद

ठूठीबारी थाना क्षेत्र के ग्राम लक्ष्मीपुर खुर्द के रहने वाले हकीम के दो पुत्रों सैयद और गफूर में भूमि बेचने पर मिले पैसे के बंटवारे को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था। इसको लेकर दोनों भाइयों के परिवारों के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। सुबह दोनों भाइयों में पैसे को लेकर विवाद काफी बढ़ गया। देखते ही देखते वह विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया। इस दौरान सैयद को गंभीर चोट लग गई। उसे मरणासन्न देख कर आरोपित मौके से फरार हो गए। ग्रामीणों की मदद से सैयद को आनन-फानन में निचलौल सीएचसी ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। चौकी इंचार्ज नीरज राय ने बताया कि आरोपित गफूर, नौसाद, आजाद सहित पांच लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस जांच पड़ताल कर रही है। शीघ्र ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

तस्करों ने एसडीएम के वाहन में मारी ठोकर

महराजगंज में नेपाल से लगी सीमा पर तस्करों का दुस्साहस बढ़ता जा रहा है। देर रात तस्करों ने एसडीएम निचलौल की गाड़ी में ठोकर मार कर उन्हें नहर में गिराने का प्रयास किया। तस्करों के हमले में बाल-बाल बचे एसडीएम प्रमोद कुमार ने इसकी सूचना पुलिस को दी। घटना की सूचना पर सक्रिय हुई पुलिस ने घेराबंदी कर पिकअप को बरामद कर लिया। हालांकि मौका पाकर तस्कर वहां से फरार हो गए। मुकदमा दर्ज कर पुलिस हमलावरों को पकड़ने के प्रयास में जुटी है।

तस्‍करी की सूचना पर चमनगंज पुल पर पहुंचे थे एसडीएम

रात करीब 11 बजे मटर तस्करी की सूचना पर एसडीएम चमनगंज पुल पर पहुंचे। अपनी गाड़ी से सात पांच पुल जाने वाले मार्ग की ओर बढ़ने लगे, इतने में एक तेज रफ्तार पिकअप झुलनीपुर मार्ग की ओर से सीधे आकर एसडीएम की गाड़ी में टक्कर मारकर भागने लगी। एसडीएम के गाड़ी की रफ्तार कम थी, जिसके चलते वाहन नहर पटरी पर फंस गया। ठोकर लगने से एसडीएम का वाहन नहर पटरी पर पलटते-पलटते बचा। हादसे के बाद एसडीएम ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। थाना प्रभारी निरीक्षक निर्भय सिंह ने बताया कि उपजिलाधिकारी के चालक की तहरीर पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। शीघ्र ही हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Rahul Srivastava