गोरखपुर, जागरण संवाददाता। पितृपक्ष में ठंडे पड़े रियल एस्टेट कारोबार में नवरात्र के शुभ अवसर पर बूूम देखने को मिला। गोरखपुर मंडल के चारो जिलाें में सात से 13 अक्टूबर तक जमीन एवं मकान की खूब रजिस्ट्री हुई। इस बीच छह कार्य दिवसों में निबंधन विभाग को स्टांप ड्यूटी एवं रजिस्ट्री शुल्क के रूप में करीब 20 करोड़ रुपये से अधिक की आय हुई है। केवल गोरखपुर में ही छह करोड़ रुपये से अधिक की आय हुई है। अष्टमी के अवसर पर गोरखपुर सदर तहसील क्षेत्र में ही 300 से अधिक रजिस्ट्री कराई गई।

नवरात्र में खूब ही जमीन की खरीदारी

नवरात्र के अवसर पर जहां पूरे बाजार में रौनक बढ़ गई है वहीं संपत्ति की भी खूब खरीद हो रही है। निबंधन कार्यालय के अधिकारियों का कहना है कि 12 अक्तूबर को गोरखपुर के सभी आठ निबंधन कार्यालय में स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्री शुल्क से करीब 3.07 करोड़ रुपये की आय हुई तो बुधवार को 3.50 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ।

रजिस्‍ट्री कार्यालयों में द‍ि‍नभर लगी रही भीड़

मंगलवार को कलेक्ट्रेट परिसर स्थित सब रजिस्ट्रार द्वितीय के कार्यालय में ही 2.04 करोड़ रुपये की आय अर्जित हुई। इसी तरह सब रजिस्ट्रार प्रथम कार्यालय में 70.33 लाख, गोला में 10.80 लाख और चौरी चौरा में 11.95 लाख, कैंपियरगंज में 95 लाख और बांसगांव में 15.73 लाख रुपये की आय हुई। माना जा रहा है कि नवरात्र के आखिरी दिन गुरुवार को रजिस्ट्री से और अधिक आय होगी। शहर के दोनों निबंधन कार्यालयों में भीड़ होने के कारण सब रजिस्ट्रार केके तिवारी एवं सब रजिस्ट्रार योगेंद्र सिंह पूरे दिन कार्यालय में ही मौजूद रहे।

सामान्य दिनों की तुलना में नवरात्र में आय बढ़ी है। रजिस्ट्री कराने आने वाले लोगों की सुविधा के लिए इंतजाम किए गए हैं। कर्मचारियों को सभी का सहयोग करने को कहा गया है, जिससे अधिक से अधिक रजिस्ट्री हो सके। - डा. केपी पांडेय, डीआईजी स्टांप।

Edited By: Pradeep Srivastava