गोरखपुर, जेएनएन। कोरोना को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन है। सभी शैक्षिक संस्थान बंद हैं, ऐसे में सीबीएसई के छात्रों के लिए वेबसाइट पर उपलब्ध एनसीईआरटी (राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद) की किताबें ही एकमात्र सहारा हैं। कक्षा-1 से 12 तक के छात्र इंटरनेट के जरिये इन किताबों को अपलोड कर आसानी से घर बैठे पढ़ाई कर सकते हैं। जरूरत पडऩे पर उसका प्रिंट भी निकाल सकते हैं। आइसीएसई के छात्र भी यह तरीका अपना सकते हैं। लॉकडाउन के चलते इस समय अभिभावक भी घर पर हैं। ऐसे में वह चाहे तो ब'चों को पढ़ाने में इंटरनेट का भरपूर उपयोग करते हुए जरूरत के अनुसार किताबें अपलोड कर सकते हैं।

वेबसाइट पर उपलब्ध हैं हिंदी, अंग्रेजी व उर्दू की किताबें

एनसीईआरटी ने अपनी वेबसाइट पर कक्षा-1 से 12 तक की हिंदी, अंग्रेजी व उर्दू की सभी किताबें अपलोड कर रखीं हैं। इससे न सिर्फ सीबीएसई बल्कि यूपी बोर्ड के छात्र भी इन किताबों को पढ़ सकते हैं।

 25 हजार से अधिक स्कूलों में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू 

यूपी बोर्ड ने दो वर्ष पूर्व विज्ञान व कला वर्ग में एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम 25 हजार से अधिक स्कूलों में लागू कर दिया था। आइसीएसई की वेबसाइट पर जाकर भी छात्र अपने जरूरत के अनुसार पाठ्य सामग्री प्राप्त कर अध्ययन कर सकते हैं।

पढ़ाई के लिए ले सकते हैं इस वेबसाइट की मदद

www.mycbse.com

www.cbseguide.com

www.evergreensidebooks.com

www.icsetext.com

लॉकडाउन के दौरान छात्रों को सीबीएसई व आइसीएसई की किताबों का ऑनलाइन अध्ययन करना चाहिए। विभिन्न प्रकाशनों द्वारा प्रकाशित किताबें इसमें मददगार हैं। - रविकांत शुक्ला, शिक्षक

बच्‍चों को शिक्षकों की कमी न खले इसके लिए एनसीईआरटी ने यह व्यवस्था की है। छात्र ई-लर्निंग के माध्यम से अपना अधूरा पाठ्यक्रम पूरा कर सकते हैं। साथ ही साथ विशेषज्ञ शिक्षकों के लेक्चर भी यू-ट्यूब पर अपलोड किया जा रहा है, जिसे देखकर व सुनकर छात्र लाभान्वित हो सकते हैं। - राजीव रंजन सिंह, प्रधानाचार्य, आरपीएम एकेडमी, कौड़ीराम। 

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस