गोरखपुर, जेएनएन। सीएए पर भाजपा द्वारा चलाए जा रहे जन जागरुकता अभियान के क्रम में रविवार को गोरखपुर के एमपी इंटर कॉलेज के मैदान में भाजपा की महारैली कुछ देर में शुरू होने वाली है। इस रैली में यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ लोगों के बीच सीएए को लेकर फैले भ्रम को दूर करेंगे। रैली में मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान भी आने वाले थे लेकिन ऐन वक्‍त पर उनका कार्यक्रम टल गया। रैली में रैली में भारी भीड़ देखकर भाजपाई गदद दिखे। 

11:20  

रैली स्‍थल पर जुटेे लोग

रैली स्‍थल पर भीड़ जुटनी शुरू हो गई है। दूर-दूर से लोग रैली में भाग लेने आए हुए हैं। 

11:50  

वक्‍ताओं ने संभाला मंच

मंच पर वक्‍तागण पहुंच गए हैं। क्षेत्रीय अध्‍यक्ष डाक्‍टर धर्मेन्‍द्र सिंह मंच पर पहुंच गए हैं। अन्‍य वक्‍ता व भाजपा नेता भी मंच पर मौजूद हैं। दर्शक दीर्घा में लोगों का आना जारी है।

12:10  

रैली स्‍थल की सड़कें भाजपा समर्थकों से पटीं

रैली स्‍थल पर जाने वाली सड़कें भाजपा समर्थकों से पटी हैं। दूर दूर से लोग रैली में शामिल होने के लिए आ रहे हैं

12:10 रविकिशन मंच पर पहुंचे

सदर सांसद रविकिशन शुक्ल मंच पर पहुंचे। सांसद का संबोधन शुरू। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही और पंकज सिंह भी मंच पर पहुंचे।

- सीएए के विरोध में हो रहा प्रदर्शन प्रायोजित है : रविकिशन

- 500-500 रुपये लेकर किया जा रहा प्रदर्शन : रविकिशन

12:45 सीएम योगी मंच पर पहुंचे

सीएम योगी आदित्‍यनाथ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतन्त्रदेव सिंह मंच पर पहुंचे। 

12:55 पंकज सिंह का उद्बोधन शुरू

यूपी भाजपा के महामंत्री पंकज सिंह संबोधन शुरू।

सीएम योगी आदित्‍यनाथ का भाषण

अब भारत दुनिया की ताकत बनकर उभर रहा है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दुनिया में ताकत का एहसास करा रहा है।

जिन लोगों को यह अच्छा नहीं लगता वे जाने अनजाने लोगों को गुमराह कर विषवमन कर रहे हैं।

ऐसे में हमें स्थिति साफ करनी होगी।

यह नागरिकता देने का कानून है।

किसी भी भारतीय नागरिक के लिए यह नहीं है।

उन घुसपैठियों के लिए जरूर है जो आतंकवाद पैदा करते हैं।

फिर इसे लेकर भ्रम की स्थिति क्यों है।

वामपंथ में एक सिद्धांत है कि एक झूठ को 100 बार बोलो तो वह सत्य हो जाएगा।

  वे आज भी उसी सिद्धांत पर चल रहे हैं।

इस सिद्धांत को कांग्रेस सहित अन्य दलों ने भी अंगीकार कर लिया।

26 मई 2014 युग परिवर्तन की तिथि थी। सभी को मकान, किसान सम्मान निधि, शौचालय, गैस मिला।

आधारभूत संरचना का निर्माण तेजी से शुरू हुआ।

प्रधानमंत्री पुरजोर तरीके से कहते हैं कि 2024 तक हर घर नल के जरिये शुद्ध पेयजल पहुंचाएंगे।

दूसरी बार पीएम बनने के बाद उन्‍होंने कहा था कि पहला कार्यकाल विकास के लिए था। दूसरा कार्यकाल जन एवं राष्ट्रीय आकांक्षाओें को पूरा करने के लिए मिला है।

धारा 370 को सदैव के लिए समाप्त करने का कार्य किया है। इसकी मांग वर्षों से उठती रही है।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने कश्मीर को बेड़ियों से मुक्त कराने के लिए स्वयं को बलिदान कर दिया।

हम प्रधानमंत्री का अभिनंदन करते हैं कि उन्‍होंने धारा 370 समाप्त कर पाकिस्तान को संदेश दे दिया।

आज देख रहे होंगे कि परिवर्तन हुआ है।

ईरान अमेरिका के बीच मध्यस्थता के लिए विश्‍व भारत की ओर  देख रहा है।

कुछ लोग एक भारत श्रेष्ठ भारत को स्वीकार नहीं कर रहे हैं।

पैसे के बल पर विरोध कराया जा रहा है।

कांग्रेस महिला सशक्तिकरण की बात करती हैं लेकिन कभी किया नहीं।

पीएम ने तीन तलाक को सदैव के लिए समाप्त कर दिया।

1528 से हर भरतीय अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण चाहता है।

कांग्रेस ने देश को बांटने का काम किया। 

कांग्रेस ने रामलला के प्रकटीकरण के समय मूर्ति हटा दी और ताला लगा दिया। 

फिर कोर्ट में मामले की सुनवाई नहीं होने दी। 

सुप्रीम कोर्ट में भी कांग्रेस रोजाना सुनवाई नहीं चाहती थी। रोजाना सुनवाई रोकने का प्रयास किया लेकिन हम सुप्रीम कोर्ट का अभिनंदन करते हैं कि रोज सुनवाई कर यह फैसला दिया। सरकार ने भी इसमें सहयोग किया।

लोग आशंका जता रहे थे कि फैसले से हिंसा होगी लेकिन सरकार ने शांति का माहौल दिया, फैसला आने पर कोई हिंसा नहीं हुई।

सभी के प्रति आभार जताना चाहता हूं कि सभी ने इस फैसले को शांति से सुना।

अब भव्य मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हुई है।

सीएए का समर्थन कर कांग्रेस को अपने पाप का पश्चाताप करने का मौका मिला था  लेकिन वह यहां भी चूक गयी।

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक के साथ अमानवीय अत्याचार हो रहे हैं।

आजादी के समय कत्लेआम हुआ, आजादी के बाद भी यह हुआ।

भारत मे 3 करोड़ मुस्लिम थे अब 23 करोड़ हो गए जबकि पाकिस्‍तान में  23 फीसद हिन्दू 1 फीसद हो गए।

महात्मा गांधी ने कहा था कि वहां उत्‍पीडन के शिकार अल्‍पसंख्‍यक जब भी चाहे आ सकते हैं।

नागरिकता कानून पहले भी बना था लेकिन उसमें संशोधन को वह स्वीकार करने को तैयार नहीं।

कांग्रेस का पूरा परिवार इस झूठ में लिप्त है।

विपक्षी दलों का आचरण गैर जिम्मेदाराना है।

नया कानून नहीं बनाया गया बल्कि 1955 में बने कानून में संशोधन किया गया है।

इस संशोधन के विरोध में उपद्रवियों को फाइनेंस किया गया है।।

कांग्रेस को देश मे वोट बैंक बनाने की चिंता है।

धारा 370 के कारण कश्मीरी पंडितों को पलायित होना पड़ा। 

धारा 370 नहीं होती तो कोई बाहर नहीं निकलता।

नए भारत के विकास में जो बाधक बनना चाहते हैं, वे लोगों को गुमराह करने में लगे हैं।

पाकिस्तान बांग्लादेश, अफगानिस्तान में मुसलमान पर हमले नहीं हो रहे हैं।

लेकिन उन देशों में हिन्दू, सिख, जैन, ईसाई पर हमला हो रहा है।

भारत की सरकार ने उन पीड़ितों को नागरिकता देने का काम किया है तो कांग्रेस को इसका स्वागत करना चाहिए था।

यह काम 1951 के समय ही होना चाहिए था लेकिन कांग्रेस ने नहीं किया। इसे मोदी जी ने किया।

कांग्रेस को उनका अभिनंदन करना चाहिए क्‍योंकि उन्होंने कांग्रेस के पापों का परिमार्जन किया है।

जब विकास योजनाओं का लाभ देने में कोई भेदभाव नहीं किया गया तो कानून में भेदभाव की बात करना कहां तक सही है।

भ्रम न फैलाएं, लोगों को जागरूक करें

रैली में लोगों की भारी भीड़ दिखी। दूरदराज क्षेत्रों से लोग रैली में शामिल होने के लिए आए। रैली समाप्त होने के बाद लोगों ने कहा कि सीएए पर लोग भ्रम न फैलाएं, बल्कि लोगों को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि इससे अधिकारों की हितरक्षा होगी। पड़ोसी देश से आए अल्पसंख्यकों के साथ न्याय हो सकेगा।

सीएए संवैधानिक इसका विरोध गलत

सीएए रैली समाप्त होने के बाद पादरी बाजार के भरथपुरवा की संजू देवी ने कहा कि सीएए संवैधानिक है। इसका विरोध गलत है।

राजनीति नहीं जागरूक करने की जरूरत

पादरी बाजार के राकेश शर्मा का कहना है कि सीएए के विरोध में तमाम लोग राजनीति कर रहे हैं। इस पर राजनीति करने की आवश्यकता नहीं, बल्कि लोगों को जागरूक करने की जरूरत है।

विरोध नहीं लोग उपद्रव कर रहे

रैली समाप्त होने के बाद कोड़इयां की माधुरी ने कहा कि इस पर सीएए पर के विरोध में लोग उपद्रव फैला रहे हैं। विरोध करने वाले खुद भी नहीं जानते कि सीएए क्या है। इस कानून को समझने की जरूरत है।

लोगों को बताएंगे क्या है सीएए

पांडेयहाता के रामविलास चौधरी ने कहा कि सीएए को लेकर यह रैली अत्यंत महत्वपूर्ण थी। लोग इस कानून को लेकर भ्रम में हैं। वह लोगों से बताएंगे कि यह कानून क्या है।

बच्चे के साथ रैली में पहुंची

बिछिया निवासिनी किरन अपने एक वर्ष के बच्चे को गोद में लेकर रैली में पहुंचीं। उन्होंने कहा कि लोग इस पर तरह-तरह की चर्चा कर रहे थे। यह कानून लोगों के हित में है।

अफवाह फैला रहे लोग

बिछिया की गुडिय़ा का कहना है कि सीएए को लेकर लोग अफवाह फैला रहे थे। लोगों को सावधान रहने की जरूरत है।

लोग समझ रहे हैं सच्चाई

आम बाजार की रजवंती का कहना है कि धीरे-धीरे कर अधिकांश लोग सीएए की सच्चाई समझ चुके हैं। ऐसे में अब किसी की दाल नहीं गलने वाली।

 

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस