गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर से आनंदविहार (दिल्ली) के बीच चलने वाली हमसफर एक्सप्रेस से सफर करने वाले यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। पूरी तरह वातानुकूलित इस प्रीमियम ट्रेन में फ्लेक्सी फेयर नहीं देना पड़ेगा। इस ट्रेन के प्रति यात्रियों का रुझान बरकरार रखने के लिए रेलवे ने किराये की दरों में होने वाली वृद्धि पर रोक लगा दी है। बस्ती और बढ़नी के रूट से चलने वाली ट्रेनों में किराया निर्धारित कर दिया है।

बढ़नी रूट पर 1375, बस्ती रूट से चलने वाली स्‍पेशल में 1475 रुपये लगेगा किराया

नई व्यवस्था के तहत गोरखपुर से बढ़नी-लखनऊ के रास्ते चलने वाली 02597 हमसफर स्पेशल एक्सप्रेस में 1475 रुपये किराया निर्धारित है। गोरखपुर से बढ़नी-गोंडा- लखनऊ के रास्ते चलने वाली 02571 हमसफर स्पेशल में यात्रियों को 1375 रुपये ही देने होंगे। आनंदनविहार से गोरखपुर वापसी के लिए भी दोनों ट्रेनों में यही किराया फिक्स है। निर्धारित किराया रेलवे काउंटर का है। एजेंट के यहां से आनलाइन टिकट बुक कराने पर बढ़ जाएगा।

इसलिए कम हुआ किराया

दरअसल, रेलवे बोर्ड ने पहली बार हमसफर एक्सप्रेस के यात्रियों पर अपनी मेहरबानी दिखाई है। 16 दिसंबर 2016 से चल रही इस ट्रेन के यात्रियों को कभी किसी भी प्रकार की रियायत नहीं मिली थी। यह ट्रेन शुरू से ही प्रीमियम के रूप में चल रही है। टिकटों की बुकिंग हवाई जहाज की तर्ज पर होती रही है। जानकारों के अनुसार हमसफर में 50 फीसद बर्थों की बुकिंग हो जाने के बाद प्रत्येक दस फीसद टिकट की बुकिंग पर दस फीसद किराया बढ़ जा रहा था।

यह भी पढ़ेंं Railway News: चार्ट बनने के बाद बर्थ खाली होने पर किराये में मिलेगी 10 फीसद की रियायत

कोरोना काल में भी गोरखपुर से नई दिल्ली के एसी थर्ड के सामान्य किराया 1165 की जगह लोगों को करीब 1900 रुपये तक देने पड़ जा रहे थे। रेलवे का यह किराया लोगों पर भारी पड़ने लगी। दशहरा, दीपावली, छठ पर्व और लग्न के बाद हमसफर ट्रेनों पर इसका असर दिखने लगा। ट्रेनें खाली चलने लगीं। फेरों में कटौती के बाद भी हमसफर पूरी तरह फुल नहीं हो पा रही थीं।

हमसफर एक्सप्रेस की रेक को स्पेशल ट्रेन के रूप में चलाया जा रहा है। इसलिए इसमें फ्लेक्सी फेयर नही लिया जा रहा है। - पंकज कुमार सिंह, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, पूर्वोत्तर रेलवे, गोरखपुर। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप