गोरखपुर, जेएनएन। भारतीय स्टेट बैंक को छोड़कर शेष सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी मंगलवार को हड़ताल पर चले गए। बैंकों में ताले लटके हुए हैं, कामकाज पूरी तरह ठप है। एसबीआई के साथ ही पूर्वांचल बैंक की सभी शाखाएं खुली हैं वहां कामकाज हो रहा है।

कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया

बैंकों के विलय व आर्थिक सुधारों के विरोध में इंडिया बैंक इंप्लाइज एसोसिएशन व बैंक इंप्लाइज फेडरेशन ऑफ इंडिया के आह्वान पर बैंकों के कर्मचारी मंगलवार को हड़ताल पर चले गए। सभी बैंकों की स्थानीय यूनियन ने सुबह बैंकों के आंचलिक कार्यालय पर एकत्रित होकर प्रदर्शन किया। इलाहाबाद बैंक स्टाफ एसोसिएशन के मंत्री आशुतोष सिंह के अनुसार बैंकों की हड़ताल से लगभग 200 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित हो सकता है।

26 से लगातार चार दिन बंद रहेंगे बैंक

दीपावली के मौके पर बैंक लगातार चार दिन बंद रहेंगे। हालांकि बैंक अधिकारियों ने अवकाश के दौरान एटीएम फुल रखने का दावा किया है। 26 को चौथा शनिवार, 27 को रविवार व दीपावली का अवकाश, 28 को गोवर्धन पूजा व 29 अक्टूबर को भाई दूज का अवकाश रहेगा।

फुल रहेंगे एटीएम

बैंक अधिकारियोंय ने लगातार चार दिनों की बंदी के बाद बैंकों के एटीएम फुल रखने का आश्‍वासन दिया है। अधिकारियों ने बताया कि बैंकों की बंदी के दिन भी एटीएम में रुपये डालने की व्‍यवस्‍था की जाएगी। एटीएम को फुल रखने की तैयारी अभी से शुरू कर दी गई है।

बस्‍ती में भी लटके ताले

उत्तर प्रदेश बैंक इंप्लाइज यूनियन के बैनर तले एआइबीईए एवं बेफी के आह्वान पर बस्‍ती जिले में भी पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक,  इलाहाबाद बैंक, बैंक आफ इंडिया, इंडियन बैंक, केनरा बैंक आदि की शाखाओं में काम काज ठप है। जमा निकासी के लिए आने वाले ग्राहक निराश लौट जा रहे हैं। पंजाब नेशलन बैंक के कर्मचारी नेता जेड यू खान ने कहा कि सरकार की नीतियों के विरोध में बैंक कर्मी हड़ताल पर हैं। सरकार का निजीकरण का फैसला किसी भी दशा में उचित नहीं है। पूर्व की भांति बैकों को काम करते रहने देना चाहिए।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप