गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गुलरिहा थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत जमुनियां में गुरुवार की चुनावी रंजिश को लेकर दो पक्षों में ईंट पत्थर के साथ ही लाठी डंडे से जमकर मारपीट हो गयी। मारपीट में दोनों पक्षों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने 25 नामजद के साथ ही 55 अज्ञात लोगों के खिलाफ बलबा समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर ली है। इसके साथ ही पुलिस ने दोनों पक्षों के सात लोगो को न्यायिक अभिरक्षा में लेकर जेल भेज दी है।

14 अक्‍टूबर को चला था ईंट-पत्‍थर

थाना क्षेत्र के ग्राम जमुनियां में 14 अक्‍टूबर को सुबह चुनावी रंजिश में जमकर ईंट पत्थर चलने लगा। इसकी सूचना गुलरिहा पुलिस को दी गयी। सूचना पाकर मौके पर इंस्पेक्टर गुलरिहा विनोद कुमार अग्निहोत्री ने उच्चाधिकारियों को घटना से अवगत कराते हुए मौके पर पहुंच गए थे। इस दौरान गांव के मुख्य मार्ग पर लगभग चार सौ मीटर दूर तक सड़क पर ईंट पत्थर बिखरा पड़ा था।

दोनों पक्ष ने दर्ज कराया है मुकदमा

एक पक्ष के कमलशंकर मिश्र की तहरीर पर अनिल यादव समेत पांच नामजद एवं 30 अज्ञात तथा दूसरे पक्ष के अनिल यादव की तहरीर पर कमलशंकर मिश्र के साथ ही 20 नामजद एवं 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ बलबा के साथ ही अन्य धाराओं में केस दर्ज करते हुए मामले की जांच कर रही है।

दोनों पक्ष से सात गिरफ्तार

थाना प्रभारी विनोद कुमार अग्निहोत्री ने बताया कि दोनों पक्षों के सात लोगों अनिल यादव, रवि, नितिश, गोलू, राजेश, कमलशंकर मिश्र, कुलदीप मिश्र को 14 दिनों के लिए न्यायिक अभिरक्षा में लेकर जेल भेज दी है। वहीं गांव में शांति व्यवस्था बनी रहे इसके लिए पुलिस तैनात की गई है।

पुजारी के नाती के गले में मारा चाकू गंभीर

खोराबार इलाके में स्थित वनसप्ती माता मंदिर के पुजारी मैनेजर पासवान के नाती संदीप को अज्ञात लोगों ने गुरुवार की देर रात चाकू से हमला कर घायल कर दिया। संदीप की हालत गंभीर बताई जा रही है। स्थानीय लोगों के सहयोग से उसे मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। मिली जानकारी के अनुसार मैनेजर पासवान का परिवार चौरी गांव के तीनपुरवा रडार टोला के पास मकान बनवा कर रहता है। मैनेजर वनसप्ती माता मंदिर में पुजारी हैं और साइकिल बनाने का काम भी करते हैं। इनके बेटे दयाराम हलवाई का काम करते हैं। परिवार की गांव में किसी से कोई दुश्मनी नहीं है।

मेडिकल कालेज में चल रहा घायल का उपचार

14 अक्‍टूबर की देर रात गांव के मकान के करीब साइकिल की दुकान के करीब संदीप पुत्र दयाराम को अज्ञात लोग चाकू से लहूलुहान कर फरार हो गए। मैनेजर ने अपने नाती को खून से लथपथ तड़पता हुआ देखा तो शोर मचाने लगा । शोर सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों ने संदीप को जिला अस्पताल ले जाकर के इलाज कराया जहां से चिकित्सकों ने गंभीर हालत के कारण मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया है।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi