गोरखपुर, जेएनएन। Ayodhya Verdict अयोध्या प्रकरण में फैसला आने के बाद सोशल मीडिया की कड़ी निगरानी हो रही है। क्राइम ब्रांच की साइबर सेल के अलावा, मीडिया सेल व 10 थानों पर तैनात साइबर पुलिस कार्रवाई में जुट गई है। टीम की पैनी नजर 14 तरह के हैशटैग व ट्रेंड पर है।

फेसबुक, ट्विटर व इंस्टाग्राम पर किसी तरह के भड़काऊ पोस्ट वायरल करने वालों की निगरानी के लिए तीन इंस्पेक्टर, दो सब इंस्पेक्टर और 11 सिपाहियों की स्पेशल ड्यूटी लगाई गई है। यह टीम हर पोस्ट पर नजर रख रही है। कोर्ट का फैसला आने के बाद तीन ट्विटर एकांउट बंद कराया गया। सोशल मीडिया पर होने वाली गतिविधियों की निगरानी के लिए 14 तरह के हैशटैग चिह्नित किए गए हैं। उन पर विशेष नजर रखी जा रही है। एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया कि थानों पर तैनात साइबर सेल में एक एसआइ और तीन सिपाहियों को भी जवाबदेह बनाया गया है।

पुलिस मुख्यालय में दर्ज कराएं शिकायत

सोशल मीडिया पर किसी तरह के भड़काऊ पोस्ट के संबंध में नजदीकी थाना, पुलिस चौकी के साथ-साथ पुलिस मुख्यालय के वाट्सएप नंबर 8874327341 पर सूचना दी जा सकती है।

इस हैशटैग की साइबर सेल कर रही निगरानी

#Ramjanmbhumi

#RamMandir

#RamMandirHearing

#AyodhyaVerdict

#AyodhyaCase

#AyodhyaHearing

#AyodhyaDeadline

#RebuildBabriMasjid

#BuildBabriAgain

#BabriMasjid

#तजयश्रीराम

#राममंदिरनिर्माण

#मंदिरवहींबनाएंगे

#अयोध्याश्रीरामकी  

विवादित आडियो पोस्ट करने पर मुकदमा, चार हिरासत में

वाट्सएप ग्रुप पर विवादित ऑडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए जाने के मामले मेें गोरखपुर पुलिस ने ग्रुप एडमिन सहित चार के विरुद्ध अफवाह फैलाने और आइटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। चारों आरोपित हिरासत में ले लिए गए हैं। एक आरोपित नाबालिग बताया जा रहा है। पोस्ट किया गया 17 सेकेंड का विवादित आडियो एक ग्रुप पर पोस्ट किया गया था। दोस्तों को संबोधित आडियो में एक गंभीर आवाज उभरती है। छानबीन में पता चला कि वाट्स एप ग्रुप का एडमिन सहजनवां इलाके के भरपही गांव का रहने वाला है। उसकी पहचान शकील अहमद उर्फ छोटानी के रूप में हुई। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ करने के बाद पुलिस ने आडियो वायरल करने के आरोप में नाबालिग सहित तीन अन्य को भी हिरासत में ले लिया। इस मामले में उप निरीक्षक शम्भू नाथ सिंह की तहरीर पर शकील अहमद उर्फ छोटानी के अलावा उसके ही गांव के मारूफ, पप्पू तथा नाबालिग आरोपित के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है।

सुबह से ही दूध-सब्जी सहेजने लगे लोग

फैसला आने के बाद किसी अनहोनी की आशंका से भयभीत शहर के बहुत से लोग शनिवार की सुबह से ही सब्जी, दूध और फल जैसी रोजमर्रा की चीजें जुटाने लगे। ऐसे में सुबह ऐसी सभी अस्थाई दुकानों पर लोगों की भीड़ देखने को मिली। मोहल्लों और गलियों की दुकानें इसे लेकर सुबह से खुल गईं। हालांकि दोपहर बाद जब जीवन सामान्य हो गया तो लोगों ने राहत की सांस ली।

सिनेमा हालों पर पड़ा असर

फैसले वाले दिन का प्रभाव सिनेमा हालों पर जरूर पड़ा। सप्ताहांत होने के बावजूद सुबह के ज्यादातार शो में सीटें खाली रहीं। दोपहर बाद के शो में लोग पहुंचे जरूर लेकिन वह भी संख्या उस मुताबिक नहीं रही, जैसी आम दिनों में होती है। यह हाल शहर के सभी मल्टीप्लैक्स और सिनेमा हाल का रहा।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप