गोरखपुर, जेएनएन। मुंबई जाने वाले यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। आम यात्रियों की परेशानियों को देखते हुए रेल प्रशासन ने गोरखपुर से बांद्रा (मुंबई) के बीच सप्ताह में एक दिन चलने वाली 22922-22921 अंत्योदय जनसाधारण एक्सप्रेस को तीन दिन चलाने का प्रस्ताव तैयार किया है। वहीं 12541-12542 गोरखपुर-एलटीटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस में पांच जनरल की जगह पांच शयनयान व एसी श्रेणी के कोच लगाए जाएंगे। यही नहीं नए साल में गोरखपुर-एलटीटी एक्सप्रेस में हाइब्रिड की जगह लिंक हाफमैनबुश (एलएचबी) कोच भी लगाए जाएंगे।

जनरल यात्रियों को मिलेगी राहत

22922 अंत्योदय जनसाधारण एक्सप्रेस गोरखपुर से प्रत्येक मंगलवार को रवाना होती है। इस ट्रेन में सिर्फ साधारण कोच लगते हैं। जब यह ट्रेन सप्ताह में तीन दिन चलने लगेगी तो जनरल टिकट पर यात्रा करने वाले लोगों को राहत मिलेगी। वहीं 12541 गोरखपुर-एलटीटी एक्सप्रेस रोजाना चलती है। इस ट्रेन में पांच जनरल की जगह पांच स्लीपर व एसी कोच लगाए जाएंगे। ऐसे में स्लीपर के लगभग 400 यात्रियों को राहत मिलेगी। वहीं जनरल के यात्री अंत्योदय एक्सप्रेस में शिफ्ट हो जाएंगे। रेलवे की इस व्यवस्था से स्लीपर, एसी और जनरल के यात्रियों को सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी। गोरखपुर-एलटीटी एक्सप्रेस में एलएचबी कोच लगने से एसी के यात्रियों को भी लाभ मिलेगा। हाइब्रिड एसी बोगियों में पंखे नहीं होते हैं। जिससे यात्रियों को परेशानी होती है। फिलहाल, इस नई व्यवस्था के लिए पूर्वोत्तर रेलवे वाणिज्य विभाग ने प्रस्ताव तैयार कर परिचालन विभाग को सौंप दिया है। नव वर्ष में यह नई व्यवस्था शुरू हो जाएगी।

13 से 16 जनवरी तक 862 फेरों में चलाई जाएंगी 502 अतिरिक्त बसें

उधर, गोरखनाथ मंदिर में लगने वाले खिचड़ी मेला को लेकर परिवहन निगम ने भी जोरशोर से तैयारी शुरू कर दी है। रोडवेज गोरखपुर परिक्षेत्र में 13 से 16 जनवरी तक कुल 13 स्थलों से 862 फेरों में 502 अतिरिक्त बसें चलाएगा। खिचड़ी मेला के दौरान श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए गोरखनाथ मंदिर के अलावा सभी डिपो में कंट्रोल रूम स्थापित किए जाएंगे। कंट्रोल रूम में 24 घंटे कर्मचारी तैनात रहेंगे। कर्मचारी श्रद्धालुओं को रुटीन के अलावा अतिरिक्त बसों की अपडेट जानकारी देते रहेंगे। परिजनों से बिछड़े श्रद्धालुओं को उनके घर तक पहुंचाने की व्यवस्था रहेगी।  इसके अलावा रेलवे स्टेशन पर भी कंट्रोल रूम स्थापित होगा। बरगदवा में यात्री सेवा केंद्र बनेगा।

मेला अवधि में बरगदवा से होकर चलाई जाएंगी बसें

मेला अवधि में कोई अस्थाई बस स्टैंड नहीं बनाया जाएगा। सभी बसें मूल बस स्टेशन से ही संचालित होंगी। मेला अवधि में गोरखनाथ मंदिर से होकर वाहनों का मार्ग बंद रहता है। ऐसे में सभी बसें बरगदवा फर्टिलाइजर होकर चलेंगी।

खिचड़ी मेला के दौरान श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न हो, इसका पूरा प्रयास किया जाएगा। रोडवेज की टीम बसों के अलावा भीड़ को भी नियंत्रित करेगी। संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं। - डीवी सिंह, क्षेत्रीय प्रबंधक, परिवहन निगम, गोरखपुर परिक्षेत्र

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस