गोरखपुर, जेएनएन। मवेशियों को वध के लिए ले जा रहे पशु तस्करों ने तिवारीपुर इलाके के घुनघुन कोठा चौराहे पर पुलिस टीम पर हमला कर दिया। पथराव करते हुए भागने की कोशिश कर रहे दो तस्करों को पुलिस वालों ने डोमिनगढ़ पुल के पास घेराबंदी कर दबोच लिया। उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। पिकअप से तीन पशु बरामद किए गए।

पुलिस ने पीछा कर तस्‍करों को पकड़ा

पकड़े गए तस्करों की पहचान गीडा क्षेत्र में जैतपुर के टोला गौसपुर निवासी फसरूद्दीन और गुलाम नवी के रूप में हुई है। तिवारीपुर पुलिस को चिलुआताल इलाके से बुधवार को तड़के तीन पशुओं को पिकअप से वध के लिए ले जाए जाने की सूचना मिली। इस पर थानेदार सत्य प्रकाश सिंह ने घुनघुन कोठा चौराहे पर घेराबंदी की। कुछ देर बाद पिकअप से पहुंचे तस्करों ने पुलिस वालों को देखते ही पथराव करना शुरू कर दिया। हालांकि बाद में पीछा कर पुलिस टीम ने डोमिनगढ़ पुल के पास पिकअप रोककर दो तस्करों को पकड़ लिया। 

पशुओं को स्‍थानीय लोगों को सौंपा गया

पुलिस के मुताबिक आरोपितों से पूछताछ में तस्करों के गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में पता चला है। पुलिस टीम उन्हें गिरफ्तार करने के प्रयास में जुट गई है। बताते हैं कि यह गिरोह काफी दिन से मवेशियों की तस्करी में लिप्त था। बरामद पशुओं को देखभाल के लिए स्थानीय लोगों को सौंप दिया गया है।

रसोई गैस की रीफिलिंग करते एक धराया

पूर्ति विभाग की टीम ने बुधवार को रसोई गैस की रीफिलिंग करते एक व्यक्ति को रंगेहाथ पकड़ लिया। उसके पास से आठ रसोई गैस के सिलेंडर भी बरामद हुए हैं। आरोपित का नाम संजय यादव है। वह सहजनवां थाने के महराबारी गांव का निवासी है। स्पोट्र्स कॉलेज के पास संजय अपनी दुकान चलाता है। बुधवार दोपहर पूर्ति निरीक्षण अरुण कुमार सिंह गैस एजेंसियों का निरीक्षण कर रहे थे। उन्हें सूचना मिली कि स्पोट्र्स कॉलेज के पास एक व्यक्ति गैस रीफिलिंग का कार्य करता है। उन्होंने तत्काल दबिश दी। संजय दुकान में गैस की रीफिलिंग करते पकड़ा गया। उसकी दुकान से आठ रसोई गैस के सिलेंडर भी मिले। पूर्ति निरीक्षक अरुण कुमार सिंह का कहना है कि चिलुआताल थाने में आरोपित के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करा दिया गया है। सिलेंडर व रीफिलिंग करने वाला यंत्र जब्त कर लिया गया है।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस