गोरखपुर, जेएनएन। कुशीनगर: जिले के खड्डा थाने के बरवारतनपुर निवासी नियामत ने पहली पत्‍नी के रहते 14 साल बाद दूसरी शादी कर ली। विवाद के बाद पहली पत्‍नी को उसने तलाक दे दिया और मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया। पीडि़ता के बहनोई ने थाने में तहरीर सौंप कार्रवाई की मांग की है।

पहली पत्‍नी की सहमति के बिना कर ली दूसरी शादी

हनुमानगंज थाने के खेमनछपरा गांव की मसीहुन की शादी खड्डा थाने के बरवारतनपुर निवासी नियामत के साथ करीब 14 वर्ष पूर्व हुई थी। संतान न होने की वजह से पति अपनी पत्‍नी को हमेशा ताना मारता व प्रताडि़त करता था। उसके बाद बिना सहमति के नियामत ने दूसरी शादी कर ली। उसके बाद पति और पत्‍नी में कलह बढ़ गया।

पहले जान मारने की कोशिश की, तीन तलाक दिया

पीडि़ता का कहना है कि मुहर्रम के दिन शौहर ने मेरे गले में फंदा लगा जान से मारने की कोशिश की। विरोध करने पर तीन तलाक बोल मुझे घर से बाहर कर दिया। बहनोई जलालुद्दीन ने कहा कि मसीहुन के पिता की मौत काफी पहले हो गई थी, इसका कोई भाई भी नहीं है। इस वजह से भरण पोषण के अलावा शादी भी मैंने ही कराई थी।

समझौता कराने को कह रही पुलिस

बहनोई का कहना है कि तहरीर दे दी गई है, लेकिन पुलिस समझौता करने को कह रही। प्रभारी थानाध्यक्ष पीके सिंह ने कहा कि तहरीर मेरे संज्ञान में नहीं है। अगर महिला कार्रवाई चाहती है तो मुकदमा दर्ज किया जाएगा। 

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप