गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद शुरू हो गई है। मंडलायुक्त जयंत नार्लिकर ने स्मार्ट सिटी बनाने के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश दिया है। उन्होंने एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन समेत जनपद के सभी महत्वपूर्ण स्थानों से प्री पेड टैक्सी की व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया है। 

मंडलायुक्‍त ने की बैठक

मंडलायुक्त आयुक्त सभागार में स्मार्ट सिटी के संबंध बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए शहर के प्रमुख चौराहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाएं जाएं। स्कूलों व पार्कों में वाइ-फाइ की व्यवस्था हो। पार्कों में ओपेन जिम खुले, गरीबों को आवास मिले तथा स्कूली शिक्षा की बेहतर व्यवस्था हो।

बैठक में यह रहे मौजूद

नगर आयुक्त ने बताया कि प्रदेश सरकार ने गोरखपुर समेत सात शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी में जलापूर्ति, सफाई, यातायात, सुरक्षा, शिक्षा आदि सुविधाओं का ध्यान रखा जाएगा। बैठक में जिलाधिकारी के.विजयेंद्र पांडियन समेत विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारी थे।

स्मार्ट सिटी में यह सुविधाएं होंगी मौजूद

शहरों में जरूरत के आधार पर आधुनिक बस स्टाप बनाए जाएंगे

हेरिटेज के रूप में विकसित किए जाएंगे शहर के पुराने क्षेत्र

प्रमुख स्थानों पर मुफ्त वाइफाइ की सुविधाएं दी जाएंगी

स्मार्ट सिटी वाले शहरों में 24 घंटे जलापूर्ति की व्यवस्था की जाएगी

घनी आबादी वाले शहरों की सड़कें चौड़ी की जाएंगी

शहर के सभी घरों में अनिवार्य रूप से दिए जाएंगे सीवर के कनेक्शन

बेहतर ट्रांसपोर्ट की सुविधा के लिए चलाई जाएंगी इलेक्ट्रिक बसें

कूड़ा डालने के लिए रखे जाएंगे डस्टबिन

शहर को बेहतर बनाने के लिए लोगों से सुझाव भी मांगे जाएंगे

मुख्य मार्गों के किनारे रखे जाएंगे गमले, लगाए जाएंगे पौधे।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस