गोरखपुर, जेएनएन। पुलिसकर्मियों की तरह सफाईकर्मियों की भी बीट निर्धारित होगी। नगर आयुक्त ने सफाईकर्मियों की बीट व्यवस्था को लागू करने की तैयारी शुरू करा दी है। सफाईकर्मियों का क्षेत्र निर्धारित किया जा रहा है। क्षेत्र में गंदगी मिलने पर सफाईकर्मी के साथ ही सुपरवाइजर की भी जिम्मेदारी तय की जाएगी। इससे सफाईकर्मियों की उपस्थिति में खेल कर नगर निगम के राजस्व को नुकसान पहुंचाने वालों पर भी शिकंजा कसेगा।

नगर निगम का दायरा बढऩे के साथ ही सफाई सुचारु करने में नगर निगम प्रशासन जुटा हुआ है। नगर आयुक्त के निरीक्षण में कई जगह सफाई नहीं मिल रही है। कई जगहों पर सफाईकर्मी ही गायब मिल रहे हैं। बीट न निर्धारित होने के कारण गंदगी के लिए सफाईकर्मियों की जिम्मेदारी भी तय नहीं हो पा रही है। इसे देखते हुए नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने नई व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं।

बन रहा रजिस्टर

सफाईकर्मियों का वार्ड वार रजिस्टर बनाया जा रहा है। इसमें सफाईकर्मी का नाम, फोटो, मोबाइल नंबर और अन्य जानकारी दर्ज की जा रही है। साथ ही बीट की भी जानकारी लिखी जा रही है। पार्षद भी समय-समय पर बीट रजिस्टर की जांच करेंगे और कमियां मिलने पर इसे दर्ज करेंगे। उप नगर स्वास्थ्य अधिकारी अखिलेश श्रीवास्तव को नगर आयुक्त ने पूरी व्यवस्था बनाने की जिम्मेदारी सौंपी है।

प्रभावी तरीके से लागू करने की तैयारी

नगर निगम में सफाईकर्मियों का क्षेत्र निर्धारित किया गया है लेकिन ज्यादातर मनमाने तरीके से काम करते हैं। लिखा-पढ़ी में कोई काम न होने के कारण सफाईकर्मियों पर कार्रवाई भी नहीं हो पाती है।

कम मिलते हैं सफाईकर्मी

पिछले दिनों नगर आयुक्त की जांच में हर जगह सफाईकर्मी कम मिल रहे थे। इनमें से कुछ सफाईकर्मियों की उपस्थिति भी मस्टर रोल में चढ़ी मिली। कर्मचारियों का कहना है कि स्थायी और आउटसोर्सिंग के कुछ सफाईकर्मी मस्टर रोल पर उपस्थिति चढ़वा लेते हैं लेकिन आते नहीं हैं। ऐसे कर्मचारी अफसरों से सेटिंग का फायदा उठाते हैं। नगर आयुक्त अविनाश सिंह का कहना है कि पुलिस की तरह सफाईकर्मियों की बीट निर्धारित की जा रही है। ड्यूटी निर्धारित होने से सफाईकर्मियों को काम में आसानी होगी और उनकी जवाबदेही भी होगी। रजिस्टर पर सूचना दर्ज की जा रही है। जल्द ही इस व्यवस्था को लागू कर दिया जाएगा। नगर निगम प्रशासन और नागरिकों का एकमात्र उद्देश्य सफाई ही है। नागरिकों को भी सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने में सहयोग करना होगा।

Edited By: Satish Chand Shukla