गोरखपुर, जेएनएन। बस्ती जिले में कबीर तिवारी हत्याकांड में पुलिस की छापेमारी तेज हो गई है। इनामी घोषित अभिजीत सिंह की तलाश में पुलिस टीमों ने फैजाबाद, बाराबंकी और लखनऊ में एक दर्जन संभावित स्थानों पर छापेमारी की। दबाव बनाने के लिए इससे जुड़े एक दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

अब तक पांच लोग हटाए गए

दूसरी तरफ हत्याकांड के बाद तोडफ़ोड़ और आगजनी मामले में एसपी पंकज कुमार और डीएम माला श्रीवास्तव को हटाने के बाद गुरुवार को आईजी की रिपोर्ट पर तीन थानेदारों को हटा दिया गया। यह है कोतवाल शमशेर बहादुर ङ्क्षसह,प्रभारी निरीक्षक रुधौली एमपी चतुर्वेदी और प्रभारी निरीक्षक परशुरामपुर सदानंद। सदानंद और शमशेर को सीबीसीआइडी में जबकि चर्तुवेदी को भ्रष्टाचार निवारण संगठन में भेज दिया गया है।

आईजी करेंगे समीक्षा,बढ़ सकती है इनाम की रकम

कबीर हत्याकांड की मानीटङ्क्षरग कर रहे आईजी आशुतोष कुमार अवकाश से लौटने के बाद इस केस की समीक्षा करेंगे। समीक्षा में आरोपित अभिजीत सिंह और प्रशांत पांडेय पर इनाम की रकम 25 से बढ़ाकर 50 हजार की जा सकती है। शूटर अभय और अनुराग तिवारी के काल डिटले की जांच में हत्याकांड में अभिजीत सिंह और प्रशांत पांडेय का नाम आया। इन दोनों पर एसपी हेमराज मीणा ने 25-25 हजार रुपये इनाम घोषित किया। इनाम की रकम बढ़ाने के लिए दो दिन पहले ही एसपी ने आइजी को सिफारिश भेजी है।

सुपारी दे कर कराई गई हत्या

कबीर तिवारी की हत्या सुपारी देकर कराई गई है। यह बात पुलिस की तफ्तीश में सामने आने के बाद सुपारी देने वाले के बारे में पता लगाया जा रहा है। खबर है इसका जवाब फरार चल रहे अभिजीत सिंह के पास है। पुलिस अब यह मानकर चल रही है अभिजीत के पकड़ में आने के बाद हत्याकांड से जुड़े सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे। पुलिस शूटरों के काल डिटेल के साथ ही बैंक खातों के बारे में भी जांच कर रही है। अभिजीत सिंह भाजयुमो के जिला मंत्री रहते हुए अपने गुर्गों से फाइनेंस की गाडिय़ा खिचवाने का काम करता था। इस घटना से पहले भी इसके खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास सहित कई मामले दर्ज हैं।

कबीर के परिजनों से मिले भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष

भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष यदुवंश बुधवार की देर रात दिवंगत भाजपा नेता कबीर तिवारी के घर पहुंचे। परिवार के लोगों को सांत्वना देते हुए हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया।

कबीर को अपना निकटस्थ बताते हुए कहा कि वह युवाओं के लोकप्रिय नेता थे। सभी के सहयोग व सबसे प्यार से मिलने के अपने स्वभाव के चलते सभी के दुलारे थे। उनकी  मृत्यु पर पूरे प्रदेश से शोक सभाएं आयोजित हो रही हैं जो यह साबित करती हैं कि उनकी प्रसिद्धि हर जगह थी। कबीर के पिता हरिप्रसाद तिवारी ने दोषियों को शीघ्र गिरफ्तार करा कर परिवार को न्याय दिलाने की गुहार लगाई। मंडल अध्यक्ष राजेश तिवारी तथा भाजपा नेता प्रमोद पांडे ने प्रदेश अध्यक्ष को वास्तविक स्थिति से अवगत कराया। भाजयुमो जिलाध्यक्ष   शिवांशु मिश्र,मोनू तिवारी मलिकार तिवारी,बब्बू तिवारी मौजूद रहे।

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप