गोरखपुर, जागरण संवाददाता। Gorakhpur to Delhi Bus Service: जल्द ही गोरखपुर रूट पर भी रोडवेज की बसें दौड़ती नजर आएंगी। गोरखपुर और कचहरी बस डिपो परिसर से प्रयागराज, वाराणसी, लखनऊ, कानपुर और दिल्ली के लिए एसी बसें मिलेंगी। परिवहन निगम ने राप्तीनगर स्थित नवनिर्मित क्षेत्रीय वर्कशाप को कार्यदायी संस्था से हैंड ओवर कर लिया है। नए वर्कशाप में वातानुकूलित एसी बसों की मरम्मत भी शुरू हो चुकी है। शुरुआत में छह एसी बसें बनकर सड़क पर आ गई हैं।

पुराने वर्कशाप में जलजमाव व कार्यदायी संस्था के काम ठप करने के चलते खड़ी थीं 24 बसें

दरअसल, गोरखपुर और राप्तीनगर डिपो के वर्कशाप में जल जमाव हो गया है। ऊपर से समय से पैसे का भुगतान नहीं होने पर एसी बसों की मरम्मत करने वाली निजी संस्था ने मरम्मत से अपना हाथ खींच ली थी। यही नहीं वर्कशाप में एसी के उपकरणों, टायर और बैट्री की कमी पड़ गई थी। ऐसे में एसी बसों की समय से मरम्मत नहीं हो पा रही थी। राप्तीनगर वर्कशाप में 20 से 24 बसें मरम्मत के लिए खड़ी रहती थीं। ऐसे में परिवहन निगम प्रशासन को एसी बसों को साधारण बनाकर संचालित करना पड़ रहा था। गर्मी के मौसम में यात्रियों की परेशानी भी बढ़ गई थी। लेकिन अब नया वर्कशाप मिल जाने से मरम्मत शुरू हो गई है।

अगले सप्ताह तक दुरुस्त करा ली जाएंगी सभी बसें

नए वर्कशाप में एसी बसों की मरम्मत शुरू हो गई है। छह बसें मरम्मत के बाद सड़क पर निकल गई हैं। अगले सप्ताह तक सभी बसें दुरुस्त करा ली जाएंगी। मरम्मत करने वाली कंपनी ने कार्य शुरू कर दिया है। राप्तीनगर वर्कशाप में जलजमाव के चलते कार्य प्रभावित हो गया था। गोरखपुर डिपो वर्कशाप की स्थिति भी बदहाल है।

जलजमाव व कीचड़ के चलते समय से बसों की मरम्मत नहीं हो पा रही है। जल्द ही गोरखपुर वर्कशाप भी राप्तीनगर स्थित नए वर्कशाप में शिफ्ट हो जाएगा। इसके बाद सड़क पर रोडवेज की पूरी तरह फिट बसें ही दौड़ती हुई नजर आएंगी। - पीके तिवारी, क्षेत्रीय प्रबंधक- परिवहन निगम।

Edited By: Pradeep Srivastava