गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के बांसगांव नगर पंचायत के एक वार्ड की निवासी 13 वर्षीय किशोरी के गर्भवती होने के बाद पुलिस ने आरोपित झोलाछाप के खिलाफ दुष्कर्म, धमकी व पोक्सो एक्ट में केस दर्ज किया। आरोपित पुलिस की हिरासत में है।

पीडि़ता की मां ने बांसगांव थाने में तहरीर देकर बताया कि छह माह पहले बुखार से पीडि़त बेटी को इलाज के लिए ग्राम बेदौली पल्टन सिंह में क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप के पास ले गई। झोलाछाप ने दवा दी और दो दिन बाद आने को कहा। तीसरे दिन बेटी झोलाछाप की क्लीनिक पर गई, जहां बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर झोलाछाप ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बेटी को होश में आने पर धमकी दी कि किसी को कुछ बताया तो हत्या करा देंगे।

इसके बाद झोलाछाप हर सप्ताह इलाज के नाम पर बेटी को बुलाता और हवस का शिकार बनाता। इस बीच उसे चक्कर आया तो सरकारी अस्पताल ले गई तो पता चला कि वह छह माह के गर्भ से है। इस बारे में पूछने पर बेटी ने झोलाछाप विनोद कुमार का नाम बताया। बांसगांव थानाध्यक्ष ने बताया कि आरोपित झोलाछाप के खिलाफ दुष्कर्म, धमकी व पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

तीन दिन बाद छह के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का केस

उधर, सामूहिक दुष्कर्म के तीन दिन बाद खोराबार पुलिस ने छह आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया और दुष्कर्म का वीडियो वायरल करने वाले आरोपित को पकड़ लिया। खोराबार थाना क्षेत्र के एक गांव की युवती तीन दिन पहले शौच के लिए खेत की ओर गई थी। पहले से घात लगाकर बैठे आधा दर्जन युवकों ने युवती को पकड़ लिया और गन्ने के खेत में ले जाकर दुष्कर्म किया और वीडियो बनाया।

दुष्कर्म के बाद मनबढ़ों ने युवती को धमकाया कि किसी को बताया तो हत्या करा देंगे। अगले दिन मनबढ़ों ने वीडियो वायरल कर दिया। इसकी जानकारी होने पर पीडि़ता खोराबार थाने पहुंची और आधा दर्जन युवकों पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए तहरीर दी। इसके बाद वीडियो वायरल करने वाले आरोपित को पकडऩे के बाद पुलिस ने आधा दर्जन मनबढ़ों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म की धारा 376 डी एवं एससी, एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया।

Posted By: Pradeep Srivastava