गोरखपुर, जागरण संवाददाता : देवरिया के खंड विकास अधिकारी सदर कृष्ण कांत राय ने मनरेगा योजना के कार्यों की वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा की। इस दौरान 28 रोजगार सेवक अनुपस्थित मिले, उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के साथ ही बीडीओ ने अग्रिम आदेश तक मानदेय जारी न करने का निर्देश दिया।

मनरेगा के कार्यों में नहीं होनी चाहिए किसी भी प्रकार की लापरवाही

बीडीओ ने कहा कि मनेरगा के तहत कार्य तेज कर दिए जाएं, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। अधिक से अधिक श्रमिकों को 100 दिन रोजगार देने का काम किया जाए। जो श्रमिक सक्रिय नहीं हैं, उनसे भी बात कर उनको सक्रिय किया जाए।

इनका रोका गया मानदेय

बैकुंठपुर के ग्राम रोजगार सेवक हृदयानंद पांडेय, बरइठा के रामभगत, सरौरा धूमनगर के विजय कुमार, चकमाधो मठिया के सबिना बानो, अहिलवार बुजुर्ग के बबलू प्रसाद, सकरापार के रमावती देवी, चकसरायबदलदास के अश्वनी कुमार, सोंदा के रामप्रवेश गौतम, पड़री मल्ल के धर्मेंद्र कुमार कन्नौजिया, लाहिलपार उर्फ रतनपुरा के इंद्रजीत कुशवाहा, पकड़ी बुजुर्ग के ममता देवी, पिपरपाति के अर्चना दीक्षित, बसडीला के चंद्रावती देवी, बांकी के मुन्ना यादव, बहोरवा के अर्चना शर्मा, सरौरा के सुनील द्विवेदी, कतरारी के सुनील यादव, परसिया अहीर के विष्णु दयाल, अगस्तपार के ज्ञान चंद्र तिवारी, भट जमुआव के भरत कुमार, डुमरिया लाला के बृजेंद्र कुमार, बारीपुर के मनोज कुमार, बरडीहा लाला के मनोहर प्रसाद, पकड़ी खास के रविकांत पांडेय, भलुआ के नीलम देवी, कठिनइया के अनीता सिंह, फुलवरियालच्छी के सुनील कुमार, सुविखर के रत्नेश मणि का मानदेय रोक दिया गया है।

प्रशासन ने ली मासूमों की सुधि

मदनपुर क्षेत्र के ग्राम नैपुर में अनाथ मासूमों की सुधि लेने उप जिलाधिकारी पहुंचे। बच्चों को तत्काल जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ ही शासन से अनुमन्य सहायता भी जल्द उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। शाम को गांव पहुंचे एसडीएम बरहज संजीव कुमार यादव ने  बेसहारा हुए सुंदरम चौबे व सोनी को राष्ट्रीय पारिवारिक योजना का लाभ दिलाने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री बाल विकास योजना के साथ ही अंत्योदय योजना से जल्द ही आच्छादित कराने का आश्वासन दिया। उपजिलाधिकारी ने बताया कि शासन द्वारा दी जाने वाली सभी सहूलियत जल्द ही उपलब्ध करा दी जाएगी।

Edited By: Rahul Srivastava