गोरखपुर, जागरण संवाददाता। UP Assembly Election 2022 विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियां शुरू हो गई हैं। निर्वाचन आयोग के नए दिशा-निर्देशों के अनुसार एक मतदेय स्थल (बूथ) पर इस बार अधिकतम 1200 मतदाता हो सकेंगे। इस आधार पर जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से मतदेय स्थलों का पुनरीक्षण किया गया। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद जिले में 256 मतदेय स्थल बढ़ गए हैं। इसके साथ ही जिला प्रशासन को 22 नए मतदान केंद्र भी बनाने होंगे। प्रशासन नए मतदान केंद्रों को चिह्नित करने में जुटा है।

1200 मतदाताओं पर मतदेय स्थलों का निर्धारण होने के बाद आया बदलाव

निर्वाचन आयोग की ओर से इस बार मतदेय स्थलों पर भीड़ कम करने के उ़द्देश्य से एक मतदेय स्थल पर अधिकतम 1200 मतदाताओं को रखने का निर्देश दिया गया था। इसी आधार पर पुनरीक्षण करने का निर्देश भी दिया गया था। जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से पुनरीक्षण के बाद तैयार मतदेय स्थलों की सूची राज्य निर्वाचन आयोग को भेजी गई थी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी की ओर से इस सूची को अनुमोदित कर दिया गया है। नई सूची के अनुसार जिले में मतदेय स्थलों की संख्या 4126 हो गई है। बदलाव से पहले 3870 मतदेय स्थल थे। मतदान केंद्र 2053 से बढ़कर 2075 हो गए हैं।

यहां बढ़ाए गए मतदेय स्‍थल

जिला निर्वाचन अधिकारी विजय किरन आनंद ने बताया कि बांसगांव विधानसभा में सर्वाधिक 50 मतदेय स्थल बढ़ाए गए हैं। उन्होंने बताया कि कैंपियरगंज में 42, पिपराइच में 23, गोरखपुर शहर में आठ, गोरखपुर ग्रामीण में 33, सहजनवा में 32, खजनी में 22, चौरी चौरा में 15 व चिल्लूपार में 31 मतदेय स्थल बढ़ाए गए हैं। जल्द ही नए मतदान केंद्रों को भी चिह्नित कर लिया जाएगा।

एक नवंबर से शुरू होगा मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्य

सहायक निर्वाचन अधिकारी जेएन मौर्य ने बताया कि विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर जिले में मतदाता सूची के पुनरीक्षण का कार्य एक नवंबर से शुरू किया जाएगा। 30 नवंबर तक नाम जोड़ने, हटाने या संशोधन के लिए आवेदन किया जा सकता है। पांच जनवरी 2022 को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन होगा।

Edited By: Pradeep Srivastava