गोरखपुर, जागरण संवाददाता : भले ही बच्चे स्कूल न जाएं लेकिन परिषदीय विद्यालय खुल गए हैं। हाल यह है कि शिक्षक विद्यालय जाने में रुचि नहीं दिख रहे हैं। देवरिया जिले में सदर व बैतालपुर विकास खंड में खंड शिक्षा अधिकारियों के निरीक्षक प्रधानाध्यापक समेत 25 शिक्षक गायब मिले हैं, जिनके वेतन कटौती करने का जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने निर्देश दिया है।

लेहड़ा प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्‍यापक मिलीं गायब

16 जुलाई को बैतालपुर विकास खंड के सकरापार बुजुर्ग विद्यालय का निरीक्षण हुआ, जिसमें प्रधानाध्यापक गायब मिले, जिनका एक दिन का वेतन काटने का निर्देश है। लेहड़ा प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापक पुष्पा यादव भी निरीक्षण में गायब मिली, जिनका दो दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया गया है।

मझगांवा प्राथमिक विद्यालय की भी प्रधानाध्‍यापक मिलीं गायब

सदर विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय मझगांवा में निरीक्षण के दौरान प्रधानाध्यापक निधि यादव गायब थीं। शिक्षा मित्र गीता श्रीवास्तव 11 दिनों से गायब चल रही हैं। ग्राम मस्टोडर गिरी के प्रधानाध्यापक जितेंद्र यादव, सारिका सिंह, नरेंद्र कुशवाहा, बृजेश सिंह, अभय प्रताप सिंह, कुर्थिया बढ़या के प्रधानाध्यापक श्रीप्रकाश सिंह यादव, पूनम त्रिपाठी, शिवानी यादव, धनंजय तिवारी, हाटा के प्रधानाध्यापक तपेश्वर गुप्ता, शिक्षा मित्र आरती, बढ़या बुजुर्ग की सहायक अध्यापक पूनम विश्वकर्मा, जंगल ठकुरही के सहायक अध्यापक खुशबू मौर्या, सुमन पांडेय, अनुदेशक विवेक शाही, सुनील गिरी गायब रहे। हाटा के प्रधानाध्यापक दिलीप सिंह, सहायक अध्यापक प्रेमबाला, बढ़या बुजुर्ग की सहायक अध्यापक शशिबाला वर्मा, शारदा राय व संदीप गौतम गायब मिले। बीएसए संतोष कुमार राय ने बताया कि निरीक्षण में गायब थे। सभी अध्यापकों का वेतन काटने के निर्देश दिए गए हैं।

फिट इंडिया के तहत शिक्षकोंं को  दिया गया प्रशिक्षण

फिट इंडिया मूवमेंट के अंंतर्गत संसाधन केंद्र पर शिक्षकोंं की बैैठक आयोजित की गई। जिसमेेंं नए मानकोंं व नियमोंं केे तहत  शिक्षण कार्य किए जानेे पर विचार किया गया। जिला व्यायाम शिक्षक संजय सिंह ने फिट इंडिया स्कूल हेतु मानक तथा रेटिंग कैसे कराये, इस पर अपने विचारो को रखा। विद्यालय में पीटी का शिक्षक, खेल का मैदान, दो या दो से अधिक आउट डोर खेल खेला जाना तथा कार्य दिवस के समय प्रतिदिन खेल का समय एक घंटे निर्धारित होने, जिसमें नृत्य, खेल, योग आदि पठन-पाठन पर चर्चा की गई।

Edited By: Rahul Srivastava