गोरखपुर : शादी से पहले लापता सोहगौरा निवासी राहुल तिवारी बुधवार को नाटकीय ढंग से गगहा थाने में पहुंच गया। उसके परिजनों ने दुश्मनी में उसे अगवा कर लिए जाने की आशंका जताई थी लेकिन उसने इससे इन्कार किया है। उसके गायब होने के संबंध में पूरी जानकारी लेने के बाद पुलिस ने उसे घर जाने दिया।

गजपुर बाजार संवाददाता के अनुसार राहुल तिवारी की 26 नवंबर को शादी थी। बरात बस्ती जानी थी। 25 नवंबर को गोरखपुर खरीदारी करने निकला था। इसके बाद से ही उसका पता नहीं चल रहा था। परिजनों ने दूसरे दिन गगहा थाने में तहरीर देकर उसके अपहरण की आशंका जताई। पुलिस मामले की छानबीन कर रही थी। इस दौरान पता चला कि वह अपने ही गावं के एक परिवार से फोन के जरिए लगातार संपर्क में है। उनके बीच दिन में कई बार बातचीत हो रही थी। इस आधार पर पुलिस ने इस परिवार के एक युवक को पूछताछ के लिए मंगलवार को हिरासत में ले लिया।

इसकी जानकारी होने पर राहुल ने अपने घर वालों से फोन पर संपर्क किया और बताया कि उसका अपहरण नहीं हुआ है। उसने हिरासत में लिए गए युवक को थाने से छुड़ाने के लिए कहा। इसके बावजूद उसके पुलिस हिरासत से मुक्त न होने पर बुधवार को वह खुद थाने पहुंच गया। उसने पुलिस को बताया कि वह शादी के लिए तैयार नहीं था, इसके बावजूद घर के लोगों ने उसकी शादी तय कर दी थी। इसलिए बरछा और तिलक के दिन भी वह घर पर मौजूद नहीं था। शादी से पहले जानबूझकर वह घर से भाग गया था।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर