गोरखपुर, जागरण संवाददाता। विधानसभा चुनाव के दौरान इस बार प्रचार-प्रसार का रंग कुछ बदला नजर आएगा। कोविड के प्रभाव को लेकर घर-घर जन संपर्क करने के दौरान नेता के साथ सुरक्षाकर्मियों के अतिरिक्त सिर्फ 10 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति है। इससे पहले मात्र पांच लोगों की अनुमति थी। 31 जनवरी तक किसी प्रकार की रैली व जनसभा का भी आयोजन नहीं किया जा सकेगा। निवार्चन आयोग से जारी दिशा-निर्देशों का पालन कराने के लिए संतकबीरनगर जिला प्रशासन कमर कसकर तैयार है।

जनसंपर्क के दौरान सुरक्षाकर्मियों की नहीं होगी गिनती

अपने कैंप कार्यालय में सोमवार को आयोजित बैठक में जिलाधिकारी दिव्या मित्तल ने कहा कि कोविड महामारी से बचाव करते हुए चुनाव प्रक्रिया को पूरी करवाने का प्रयास चल रहा है। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जनपद में रोड शो, पदयात्रा, साइकिल, बाइक, वाहन रैली तथा जुलूस पूर्ण रूप से 31 जनवरी तक प्रतिबंधित रहेगें। घर-घर जनसंपर्क अभियान के दौरान सुरक्षा कर्मियों को छोड़कर पांच के स्थान पर कुल 10 व्यक्तियों को शामिल होने की अनुमति है।

जगह के अनुसार 50 से लेकर पांच सौ को एकत्र कर वीडियो वैन से कर सकेंगे प्रचार

जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि वीडियो वैन के साथ खुली जगह में कोविड मानकों का अनुसरण करते हुए जगह की क्षमता का 50 प्रतिशत अथवा 500 व्यक्ति प्रचार-प्रसार कर सकते हैं। इसमें भी शर्त होगी कि जन साधारण को और ट्रैफिक का आवागमन बाधित न हो। बंद हाल में राजनैतिक दलों को बैठक करने के लिए पांच सौ से अधिक की संख्या जुटाने पर रोक है।

राजनीतिक दलों से कोविड प्रोटोकाल का पालन करने की अपील

उन्होंने सभी राजनैतिक दलों से कोविड अनुरूप व्यवहार एवं निर्वाचन संबंधित समस्त गतिविधियों के दौरान निर्वाचन आयोग भारत सरकार के निर्देशानुसार आर्दश आचार संहिता का अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी रिटर्निंग आफिसरों को अपने क्षेत्र में चुनाव आचार संहिता का अनुपालन कड़ाई से सुनिश्चित कराने को कहा।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi