देवरिया: उत्तर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि 16 जनवरी से शुरू हुए कोरोना टीकाकरण के बाद टीका खरीद कर अपने संसाधनों से प्रदेश के लोगों को लगाना शुरू किया गया। अभी तक पूरे प्रदेश में 2 करोड़़ 54 लाख लोगों को टीका लगाया जा चुका है। सितंबर तक प्रदेश में 10 करोड़़ लोगों को टीका लगा दिया जाएगा। अब तक पूरे देश में 25 करोड़़ से अधिक लोगों को टीका लगया जा चुका है।

वह विकास भवन के गांधी सभागार में बुधवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को लगातार बेहतर करने का प्रयास किया जा रहा है। विधायक, सीएचसी व पीएचसी को गोद लेंगे और वहां की समस्या का समाधान कराएंगे। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर को लेकर हम लोग तैयारी कर रहे हैं। डाक्टरों की कमी को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। कोई भी अस्पताल बिना डाक्टर के न रहे, इसके लिए निर्देश दिए गए है। प्रदेश के प्रत्येक मेडिकल कालेज में 100 बेड, सभी जिला अस्पतालों में 50-50 बेड व सीएचसी, पीएचसी व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर भी सात से आठ बेड का पीआइसीयू बनाया जा रहा है। कोरोना से रिकवरी रेट 3.8 फीसद है। अभी तक 21963 मौतें हुई हैं। पूरे प्रदेश में 6696 मरीज कोरोना के हैं। 76 हजार निगरानी समितियां कार्य कर रहीं हैं, जिनके माध्यम में बच्चों में आयु वर्ग के हिसाब से चार वर्गों में बांट कर मेडिकल किट का वितरण बहुत जल्द शुरू किया जाएगा। सामान्य रूप से बीमार बच्चे इस किट की दवाओं से ही स्वस्थ हो जाएंगे, उन्हें अस्पताल नहीं जाना पड़ेगा। पत्रकारों द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए एकत्रित धन में घोटाले के सवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कोई घोटाला नहीं हुआ है। ट्रस्ट बना है, साधु, संत उस ट्रस्ट में जुड़े हैं, वहां घोटाले की बात नहीं हो सकती है। घोटाले की बात पूरी तरह से निराधार है। इसके पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही को डीएम आशुतोष निरंजन, एसपी डा. श्रीपति मिश्र, सीडीओ शिव शरणप्पा जीएन ने बुके देकर स्वागत किया।