गोंडा, जेएनएन। जिले में अवारा और छुट्टा पशुओं का आतंक है। स्‍कूल से आ रही दो छात्राओं के पीछे सांड पड़ गया। जान बचाने के चक्‍कर में बच्चियां पानी भरे गड्ढ़े में गिर गई। जब तक ग्रामीण उन्‍हें बचाने की कोशिश की उनकी मौत हो चुकी थी। पुलिस ने शव को पोटस्‍मार्टम के लिए भेज दिया।  

यह है मामला 

हादसा कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के पिपरापदुम गांव का है। कृपा पुरवा निवासी ठाकुर प्रसाद की बेटी साधना (13) और रक्षाराम की बेटी रागिनी (11) उच्च प्राथमिक विद्यालय ठोरहंस में पढ़ती थी। साधना कक्षा आठ व रागिनी कक्षा छह में पढ़ रही थीं। सोमवार दोपहर दोनों घर जा रही थी कि रास्‍ते में एक सांड ने उन्‍हें दौड़ा दिया। दोनों जान बचाने के लिए भागने लगी। वहीं भागते हुए वे सड़क किनारे एक पानी भरे गड्ढ़े में गिर गईं। दोनों को डूबता हुआ देखकर अन्‍य छात्राओं ने शोर मचाना शुरू कर दिया। जिसके बाद ग्रामीण उन्‍हें बचाने दौड़े, लेकिन त‍ब तक दोनों की मौत हो चुकी थी। 

शव पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा 

हादसे की जानकारी पुलिस को दी गई। इस पर सीओ महावीर सिंह वकोतवाल राजनाथ सिंह ने मौके पर पहुंचकर शवों को कब्जे में लेकर छानबीन की। वहीं शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया। 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप