गोंडा : लोकसभा चुनाव की आहट के बीच तबादलों का दौर तेज हो गया है। चार दिन में ही कमिश्नर से लेकर एएसपी तक बदल गए। तबादले होने के बाद सरकारी कार्यालयों में सन्नाटा पसरा गया। कर्मचारी हों या अफसर, हर कोई तबादले को लेकर चर्चा में मशगूल दिखा।

जिले में तबादले का दौर गत बुधवार को शुरू हुआ था। यहां सीडीओ के पद पर नई तैनाती कर दी गई थी, हालांकि यहां तैनात सीडीओ अशोक कुमार को अभी नई तैनाती नहीं मिल सकी है। करीब दस माह तक उन्होंने अपनी जिम्मेदारी निभाई। शुक्रवार की देररात ही देवीपाटन मंडल में तैनात रहे आयुक्त सुधेश कुमार ओझा, डीएम कैप्टन प्रभांशु श्रीवास्तव व अपर पुलिस अधीक्षक हृदयेश कुमार का तबादला कर दिया गया। डीएम ने गत वर्ष मई में खाद्यान्न घोटाले को लेकर हुई कार्रवाई के बाद जिले की कमान संभाली थी। जबकि आयुक्त की भी तैनाती उसी साल हुई थी। निवर्तमान आयुक्त का सेवाकाल 31 मार्च 2019 को समाप्त हो रहा है। रात में हुए तबादले को लेकर शनिवार को डीएम व आयुक्त कार्यालय परिसर में सन्नाटा पसरा रहा। आंकलन में जुटे अफसर व कर्मी

-तबादले के बाद अफसर व कर्मचारी पुराने व नए अफसरों को लेकर कार्यशैली व व्यवहार का आंकलन करने में जुट गए हैं। हर कोई जाने वाले में खामियां व आने वाले की खूबियां जानने की कोशिश में लगा रहा। कई अफसरों ने आने वाले अफसरों के पूर्व में तैनाती वाले जिले व विभागों में परिचितों से बात करके तैयारियां शुरू कर दी हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप