परसपुर (गोंडा) : बाढ़ की त्रासदी से चरसड़ी बांध को बचाने के लिए घाघरा नदी में ड्रेजर मशीन को उतारा गया है। यह मशीन नदी से सिल्ट निकाल करके नदी का रुख मोड़ने का कार्य कर रही है।

54 किमी लंबाई में बना चरसड़ी बांध कई स्थानों पर घाघरा नदी को छू रहा है। इसी के चलते बरसात में नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी होने पर बांध को अपने चपेट में ले लेता है। इसके चलते बांध परसावल, रायपुर, नकहरा व बांसगांव के पास टूट चुका है। इसके कारण गोंडा व बाराबंकी के सैकड़ों गांव तबाह हो चुके हैं। इसीलिए जहां-जहां नदी व बांध की दूरी कम है, वहां ड्रेजर मशीन से नदी के सतह में जमी बालू को निकालकर धारा का रुख मोड़ा जा रहा है। कार्य की निगरानी कर रहे डायरेक्टर पवन ¨सह के मुताबिक मशीन बाराबंकी के रायपुर गांव के पास लगी है, जहां वह सिल्ट की सफाई करती हुई पूरब की ओर बढ़ रही है।

Posted By: Jagran