गोंडा: गत गुरुवार की रात बदमाशों ने जमकर उत्पात किया। दो मंदिरों व दुकान को निशाना बनाया। पुजारी पर हमलाकर हजारों का माल लूट लिया। घटनाएं कोतवाली देहात व कर्नलगंज थाना क्षेत्र में हुईं। गोंडा-लखनऊ मार्ग पर परसागोड़री गांव में हनुमान, दुर्गा व शंकर जी का मंदिर है। यहां रात लगभग दो बजे मंदिर के पुजारी विश्वनाथ दास लघुशंका के लिए उठे थे। इसी बीच एक मारुती कार आकर रुकी और उसमे से तीन-चार लोग निकले। पुजारी पर डंडे व लात-घूसे से हमलाकर चाबी छीन लिया और उन्हें दुर्गा मंदिर में बंद कर दिया। इसके बाद सभी कमरों को खंगाल डाला। बदमाश मंदिर मे रखा लाउडस्पीकर, गैस सि¨लडर, चूल्हा, बाक्स, कपड़ा, एक हजार रुपये, अनाज व कागजात लेकर भाग गए। साथ ही बिजली चालित मोटर को क्षतिग्रस्त कर दिया। हमले में पुजारी के सिर, पीठ व हाथ में काफी चोटें आई हैं। भोर में जब आसपास के युवक दौड़ लगाने निकले तो पुजारी ने चैनल के अंदर से आवाज लगाई। इस पर ताला तोड़कर उन्हें बाहर निकाला गया। इसके अलावा परसपुर रोड पर फत्तेपुर में सुरेंद्र कुमार उपाध्याय की मोबाइल दुकान में भी हाथ साफ कर दिया गया। यहां करीब दो लाख का माल चोर ले गए। इसकी भी तहरीर कोतवाली देहातमें दी गयी। साथ ही नदी के तट पर स्थित शिवमंदिर पर भी चोरी हुई है । इस संबंध में बालपुर बाजार के चौकी प्रभारी योगेश प्रताप ¨सह का कहना है कि तहरीर मिली है मौके पर जाकर जांच की गयी, जल्द ही बदमाशों का सुराग लगा लिया जाएगा।

पुलिस चौकसी पर सवाल

-इन दिनों त्योहारों व बोर्ड परीक्षा के मद्देनजर संवेदनशीलता बढ़ गयी है। शासन की ओर से पुलिस को विशेष चौकसी बरतने का निर्देश दिया गया है। ऐसे में एक ही रात कुछ फासले के बीच एक से अधिक वारदातों ने पुलिस चौकसी पर सवालिया निशान लगा दिया। साथ ही डायल 100 व अन्य पुलिस टीमों की रात्रि गश्त पर सवाल उठ रहे हैं।

Posted By: Jagran