गोंडा : आसन्न लोकसभा चुनाव में मतदान को लेकर चुनावी चर्चा गली-चौराहे, चौपालों व चाय की दुकानों पर कहीं भी देखी जा सकती है। चौक-चौराहे चुनावी चर्चा केंद्र बिदु बन चुके है। जहां एक ओर भाजपा, सपा-बसपा गठबंधन, अपना दल-कांग्रेस व विभिन्न दलों के घोषित प्रत्याशी व समर्थक गांव-गांव, गली-गली मतदाताओं के बीच विकास के नाम पर रिझाने के प्रयास में लगे हैं वहीं आम मतदाता सभी लोगों के घोषणा को सुनकर आश्वासन दे रहे हैं। दूसरी तरफ उनके समर्थक दुकानों व चौराहों पर प्रत्याशी को समर्थन दे रहे हैं। मनकापुर कस्बे के मिठाई वाटिका चाय दुकान पर बेलभरिया निवासी मदन सिंह कहते हैं कि देश में बढ़ रही बेरोजगारी इस बार नरेंद्र मोदी को पीएम बनने से दूर कर सकती है। इसी बीच कहोबा निवासी कोदई सिंह बोले कि भाजपा के कार्यकाल में विकास हो रहा है लेकिन, अगले पांच साल और भाजपा की सरकार बननी चाहिए। सेहरिया गांव निवासी राघवेंद्र कहते हैं कि वर्तमान में पूरे विश्व में भारत का डंका बज रहा है और जल्द ही भारत विश्व गुरु बनकर उभरेगा। चर्चा में अपनी बात रखते हुए पटेलनगर निवासी दीपू कहते हैं कि किसानों के खेतों को बेसहारा पशुओं से बचाव के लिए ठोस पहल केंद्र व राज्य सरकार करनी चाहिए, जिससे किसान खुशहाल हो सकें। चुनावी चर्चा में जन मुद्दों को उठाते हुए राजेंद्र नगर निवासी किशन लाल जायसवाल कहते हैं कि तहसील मुख्यालय पर एक महिला अस्पताल बहुत ही जरूरी है। अगली सरकार भाजपा की बनने पर पर अस्पताल बनने की उम्मीद है। बैरीपुर रामनाथ निवासी दिलीप तिवारी बोले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसान निधि कै शुरुआत किहिन, ई बहुत बड़ा काम होइ गवा है। इतने में रामकृपाल वर्तमान सरकार पर कटाक्ष करते हुए बोल पड़े कि ई सरकार हर मायने का फेल है, जनता बदलाव चाहत हय। तेंदुआकला निवासी देवी प्रसाद बोले कि यहि बार पासा पलट होइके रहे। केंद्र मा गठबंधन कय सरकार बने। भाजपा सरकार मा किसान दिन रात चौकीदारी करि बेसहारा जानवरन से फसल बचावै मा लागि हैं। झिलाही बाजार निवासी केके वर्मा कहते हैं कि गठबंधन तेजी से दिल्ली की ओर बढ़ रह है। सरकार बनना तय है। चुनावी चर्चाओं का बाजार पूरी तरह गर्म है और कोई सब अपने-अपने नेताओं के समर्थन में तर्क देकर जीत का दावा करते दिखा।

Posted By: Jagran