या हुसैन की सदाओं संग अकीदत से मना मुहर्रम

जागरण टीम, गोंडा: पैगंबर मोहम्मद के नवासे इमाम हुसैन की शहादत का प्रतीक मुहर्रम गमगीन माहौल में अकीदत के साथ मनाया गया। दसवीं का जुलूस निकालकर ताजिया को कर्बला में दफन किया गया। सुन्नी समुदाय के लोग कर्बला के शहीदों की याद में डूूबे रहे, वहीं शिया समुदाय के लोगों ने मातम किया। ताजिया देखने को भारी भीड़ रही। सुरक्षा को लेकर आवश्यक प्रबंध किए गए थे। अधिकारी खुद व्यवस्था की निगरानी कर रहे थे। मान्यता है कि हुसैन व उनके 72 साथियों ने इस्लाम के लिए यजीद से जंग कर अपनी शहादत दी थी। मुहर्रम उसी कुर्बानी को याद करने का पर्व है। सोमवार की रात विभिन्न मुहल्लों व इमामबाड़ों में ताजिया स्थापित किया गया था। मंगलवार को स्थापित ताजिये का जुलूस निकला तो उसके दीदार के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। जुलूस में शामिल लोग या हुसैन हम न थे या नवी हम न थे की सदाओं से वातावरण गुंजायमान रहा। विभिन्न मार्गों से होता हुआ जुलूस कर्बला पहुंचा, जहां पर ताजिया दफन किया गया। वजीरगंज: कटरा विरहमतपुर,चंदहा,करदा,चड़ौवा, बौगड़ा,अचलपुर,रसूलपुर, वजीरगंज में ताजिया का जुलूस निकाला गया। थानाध्यक्ष चंद्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में पुलिस बल की तैनाती रही। बालेश्वगंज: डुमरियाडीह चौकी के साहिबापुर, नगवा, काशीपुर, कटरा जगदीशपुर, भीखमपुर में मुहर्रम गमगीन माहौल में मनाया गया। बभनजोत: कस्बा खास, महुआ पाकर, बनगवा, चंद्रदीप घाट, घारीघाट, कूक नगर ग्रांट, दौलतपुर ग्रांट, अल्लीपुर में मुहर्रम अकीदत के साथ मना। इसके अतिरिक्त कर्नलगंज, परसपुर, मनकापुर, खरगूपुर, बेलसर, नवाबगंज, कटरा बाजार में अकीदत के साथ मुहर्रम मनाया गया। ---------- तिरंगे की रही धूम - मुहर्रम पर निकाले गए जुलूस में तिरंगे की धूम रही। जुलूस में शामिल लोग तिरंगा लेकर चल रहे थे। प्रशासन ने मुहर्रम को लेकर सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए थे। एडीएम सुरेश कुमार सोनी, एएसपी शिवराज, सिटी मजिस्ट्रेट अर्पित गुप्ता, सीओ लक्ष्मीकांत गौतम पुलिस बल के साथ निगरानी में तैनात किए गए थे।

Edited By: Jagran