गोंडा : मध्याह्न भोजन योजना के 3211 खातों की जांच की वजह से फल वितरण की धनराशि का भुगतान बाधित है। प्राधिकरण स्तर से 2.81 करोड़ रुपये आवंटित होने के बाद भी अधिकारी इसे स्कूलों को भेजने से गुरेज कर रहे हैं।

बेसिक शिक्षा विभाग के राजकीय, परिषदीय, मदरसा व अशासकीय सहायता प्राप्त स्कूलों में दोपहर में भोजन दिया जाता है। इसके अलावा मौसमी फल व दूध का वितरण किया जाता है। इसके लिए स्कूलों को धनराशि दी जाती है लेकिन, गत मई महीने से एक भी रुपये नहीं दिए गए थे। अब शासन ने दो करोड़ 81 लाख 45 हजार रुपये आवंटित किया है लेकिन, यहां मिड डे मील के खातों की जांच कराई जा रही है। ऐसे में खाते में रुपये डंप होने के बाद भी धनराशि नहीं भेजी जा रही है। मध्याह्न भोजन प्राधिकरण के जिला समन्वयक गणेश कुमार गुप्त ने बताया कि कमेटी खातों की जांच कर रही है। कार्यवाही पूरी होने के बाद धनराशि खातों में भेज दी जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप