संसू, गोंडा: मौसम जनित बीमारियों के कारण लोगों की परेशानी बढ़ गई है। जिला अस्पताल में कराई गई जांच में डेंगू का एक और मरीज मिला है। वहीं, ओपीडी में बुखार के 137 मरीज आए, इसमें से चार को भर्ती किया गया है। चिकित्सकों ने बदलते मौसम में लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दी है।

सोमवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में मरीजों की भीड़ उमड़ पड़ी। सबसे ज्यादा मरीज फिजीशियन को दिखाने के लिए पहुंच रहे थे। यहां पर सुबह से ही मरीजों की कतार लग गई थी। फिजीशियन डा. समीर गुप्ता व डा. अखिलेश त्रिपाठी को दिखाने के लिए मरीज अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। डेंगू की जांच में एक मरीज की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। संबंधित मरीज की केस हिस्ट्री के बारे में जानकारी की जा रही है। प्रमुख अधीक्षक डा. घनश्याम सिंह ने बताया कि जिला अस्पताल की ओपीडी में बुखार के 137 मरीजों का इलाज किया गया। इसमें से चार को भर्ती कराया गया है।

---------------

सारे बेड फुल हो गए हैं क्या करें

- जिला अस्पताल के चिल्ड्रेन वार्ड में कुल 19 बेड है। सभी फुल होने के कारण मरीजों की मुश्किल बढ़ गई है। कर्मियों का कहना है कि सारे बेड फुल हैं, अब अगर कोई नया मरीज आता है तो उसे कहां भर्ती करें। यही हाल, मेडिकल वार्ड का भी है। ऐसे में सामान्य मरीजों को भी डेंगू वार्ड में शिफ्ट करना पड़ रहा है। वार्डों में मरीजों की भीड़ के कारण समस्याएं बढ़ गई हैं।

-------------

गंदगी से हो रही परेशानी

- सर्जिकल महिला वार्ड में शौचालय के गंदे पानी के एकत्र होने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि शिकायत के बाद संबंधित कर्मियों को इसके लिए लगाया गया। कई अन्य जगह गंदगी होने के कारण भी समस्या हुई।

------------

बरतें सावधानी

- एसीएमओ डा. जय गोविद का कहना है कि मौसम जनित बीमारियों के प्रकोप से बचाने के लिए जागरूकता आवश्यक है। साफ सफाई पर विशेष ध्यान दें। मच्छरों के प्रकोप से बचने के लिए फुल आस्तीन के कपड़े पहनें।

Edited By: Jagran