गोंडा: मौसम में हो रहे बदलाव का असर सोमवार को भी जारी रहा। सोमवार की सुबह से ही कोहरा छाया रहा। इससे कोहरे की मार से हर कोई परेशान रहा। पूरे दिन कोहरा रहा। साथ ही गलन भरी सर्दी भी लोगों के लिए मुसीबत बनी रही। जिले का अधिकतम तापमान 15.4 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

गत दो दिनों से मौसम का मिजाज बदला हुआ है। कभी धूप तो, कभी बदली। सोमवार की सुबह भी कोहरा रहा। कोहरे के कारण आवागमन में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। पूरे दिन धुंध बनी रही, जिसका असर रफ्तार पर पड़ा। इसके साथ ही गलन भरी सर्दी लोगों को परेशान करती रही। सबसे ज्यादा दिक्कत स्कूली बच्चों को हुई। ठंड व कोहरे में स्कूल खुलने के कारण बच्चे ठिठुरते हुए स्कूल जाने को विवश दिखे। कृषि वैज्ञानिक डॉ. उपेंद्र सिंह के मुताबिक अधिकतम तापमान 15.4 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 5.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। 4.8 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा भी चली।

मरीज भी बढ़े

- मौसम में हो रहे बदलाव के कारण डायरिया, उल्टी व निमोनिया के साथ ही हृदय व श्वांस की बीमारी वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ी है। सोमवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में इन बीमारियों के मरीज आए। फिजीशियन के पास दो सौ से अधिक मरीज आए, जिसमें से 90 मरीज मौसम जनित बीमारियों से ही ग्रसित मिले। फिलहाल, चिकित्सकों ने सतर्कता बरतने की सलाह दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस