गोंडा: शहर के दुखहरन नाथ मंदिर के समीप स्थित उपाध्याय गन हाउस की जांच शुक्रवार को उच्च न्यायालय के आदेश पर की गई। जिसमें शस्त्रों की गिनती कराकर उसका फर्द तैयार करके दुकान मालिक के पिता को दिया गया है।

डीएम डॉ. नितिन बंसल ने बताया कि उपाध्याय गन हाउस को पूर्व में अधिकारियों ने जांच करके सील कर दिया था। जिस पर गन हाउस के मालिक ने उच्च न्यायालय की शरण ली थी। न्यायालय के आदेश पर शुक्रवार को गन हाउस की सील खुलवाकर उसमें रखे शस्त्रों का मिलान किया गया। साथ ही उसकी फर्द तैयार कराई गई। जिसे दुकान मालिक अभिषेक उपाध्याय के पिता पूर्व विधायक रघुराज प्रसाद उपाध्याय को दे दिया गया है। साथ ही उन्हें कहा गया है कि जब तक न्यायालय से कोई आदेश नहीं हो जाता है तब तक वह शस्त्रों का क्रय-विक्रय न करें। डीएम ने बताया कि मौजूदा समय में संबंधित गन हाउस का शस्त्र लाइसेंस वैध नहीं है। इस मौके पर सिटी मजिस्ट्रेट राकेश सिंह, सीओ सिटी महावीर सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप