जासं, करीमुद्दीनपुर (गाजीपुर) : स्थानीय थाना क्षेत्र के गंधपा गांव में गुरुवार की शाम ट्रैक्टर के भाड़े को लेकर हुई मारपीट में घायल मन्नू प्रजापति (35) की दूसरे दिन शुक्रवार को मौत हो गई। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मौत की पुष्टि के बाद परिवार में कोहराम मच गया। लोगों ने हो हल्ला की कोशिश की लेकिन बड़ी संख्या में फोर्स ने शव को कब्जे मे लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामला संभाल लिया। इस मामले में मृतक के बड़े भाई सोनू प्रजापति की तहरीर पर संजीव कुशवाहा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया। हत्यारोपी घर छोड़कर फरार है।

मन्नू प्रजापति गोबर की खाद फेंकने के लिए गांव के ही संजीव कुशवाहा का ट्रैक्टर भाड़ा पर लिया। खाद गिराने के बाद संजीव ने भाड़ा मांगी तो मन्नू नेरुपया न होने का हवाला देते हुए दूसरे दिन देने को कहा। इस पर ट्रैक्टर चालक संजीव कुशवाहा तुरंत भाड़े के लिए जिद करने लगा। इसे लेकर दोनों पक्षों में विवाद बढ़ने लगा। देखते ही देखते तूतू-मैं-मैं से मामला मारपीट में तब्दील हो गया। संजीव ने मन्नू की लात-घूसों से न सिर्फ जमकर पिटाई कर दी बल्कि सीने पर भी लात से प्रहार किया। परिजनों की सूचना पर 112 नंबर पुलिस पहुंची। उसने थाने में जाने की बात कही। दूसरे दिन सुबह शुक्रवार को मन्नू थाने पर तहरीर देने के लिए घर से निकला था लेकिन रास्ते में अचानक बेहोश होकर गिर पड़ा और छटपटाने लगा। राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस उसे लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गोड़ऊर ले गई जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मौके पर एसडीएम राजेश कुमार गुप्ता, सीओ विनय कुमार गौतम और कमीमुद्दीन और भांवरकोल थानों की फोर्स डंटी रही।

-

कच्ची है गृहस्थी

मृत मन्नू की गृहत्थी अभी पूरी तरह कच्ची है। वह घर पर खेती का काम करता था। तीन बच्चों में झम्मन (3) सबसे बड़ी, बबली (1) दूसरे नंबर की तथा एक सात माह की बच्ची भी है। पत्नी माया के करुण क्रंदन से लोगों का कलेजा फटा जा रहा था तो पूरे परिवार में शोक की लहर थी।

-

संजीव के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही वह गिरफ्त में होगा।

दिव्यप्रकाश सिंह, एसओ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस