जागरण संवाददाता, मुहम्मदाबाद (गाजीपुर) : तहसील मुख्यालय स्थित उप डाकघर में विद्युत व्यवस्था को सुचारु रखने के लिए लगाया गया सोलर प्लांट व बड़ा जेनरेटर बेकार पड़ा हुआ है। ताज्जुब की बात यह है कि जहां इन यंत्रों को लगाने में कई लाख रुपये खर्च किए गए हैं, वहीं इसका सेवा लेने के बजाए विभाग किराए पर यूपीएस इनवर्टर लगाकर काम किया जा रहा है।

तहसील का उच्चीकृत उप डाकघर से करीब एक दर्जन ग्रामीण डाकघर के अलावा आम उपभोक्ताओं का कार्य होता है। डाकघर भवन का करीब चार पांच वर्ष पूर्व जीर्णोद्धार होने के बाद डाकघर में लगे कंप्यूटर का निर्वाध संचालन के लिए काफी पावर का सोलर पैनल व बैट्री लगाया गया। वहीं पहले से एक जेनरेटर भी उपलब्ध था। सोलर पैनल का हालत यह रहा कि उसे लगाने के बाद संबंधित फर्म की ओर से उसे शुरू नहीं किया गया। इसके चलते उसकी बैट्री आदि भी खराब हो चुकी है। कई लाख रुपये खर्च कर लगाए गए जेनरेटर व सोलर पैनल से विद्युत आपूर्ति शुरू कराने के बजाय अधिकारी द्वारा किराए पर इनवर्टर यूपीएस लेकर काम किया जा रहा। इसके चलते विभाग को बेवजह आर्थिक बोझ उठाना पड़ रहा है। इस संबंध में उप डाकपाल सत्यनारायण ने बताया कि जबसे वह कार्यभार संभाले हैं तब से जेनरेटर व सोलर चालू नहीं हुआ। किराए पर इनवर्टर यूपीएस लगाया गया है। जिससे काम होता है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021