जासं, मरदह (गाजीपुर) : नसरतपुर अनुसूचित बस्ती की महिलाएं रविवार को शराब की दुकान पर धमकी गईं। इस दौरान नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। साथ ही नसरतपुर-अरखपुर मार्ग पर स्थित देशी शराब की दुकान को अन्यत्र हटाने की मांग की। ऐसा न होने पर रास्ता जाम करने की चेतावनी दी।

उनका आरोप था कि शराब की दुकान घनी बस्ती में है। आए दिन नशे में धुत होकर लोग आपस में मारपीट करते हैं। महिलाओं से अश्लील छींटाकशी करते हैं। इसका विरोध करने पर मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। गत शनिवार की देर रात दुकान अन्यत्र हटाने के प्रकरण को लेकर ग्रामीणों व सेल्समैन के बीच मारपीट भी हो गई थी। सूचना पर मरदह व बिरनो थाने की फोर्स के पहुंचने पर मामला शांत हुआ था। इसके विरोध में सुबह नसरतपुर दलित बस्ती की दर्जनों महिलाएं शराब की दुकान पर धमक गईं। हाथ में चप्पल लेकर नारेबाजी करने लगे। उनका कहना था कि पूर्व में जिलाधिकारी को दुकान हटाने के लिए पत्रक दिया था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जल्द ही वहां से दुकान नहीं हटी तो धरना-प्रदर्शन कर रास्ता जाम किया जाएगा। मारकण्डे राम, गौरी राम, राजेश भारती, पन्नालाल, जयप्रकाश, अर्जुन, गुलाबचंद्र, फुला देवी, कलावती, माधुरी, बदामी, इमरती, चंपा, उषा, मेवाती आदि थीं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप