जागरण संवाददाता, गाजीपुर : एक साल पहले प्रेम विवाह करने वाले दंपती के बीच मोबाइल रिश्ता टूटने का कारण बन गया। पत्नी की फेसबुक, इंस्टाग्राम व वाट्सएप पर व्यस्तता पति को नागवार गुजरी तो बात थाने तक पहुंच गई। पुलिस ने पत्नी को समझाने का प्रयास किया लेकिन बात नहीं बनी। पत्नी ने दो टूक कह दिया कि वह पति को छोड़ सकती है, लेकिन मोबाइल नहीं। इसके बाद पुलिस ने मामला पंचों को सौंप दिया। घंटों पंचायत के बाद दोनों अलग हो गए और एक दूसरे का सामान वापस कर दिया।

दुर्गास्थान के रमाकांत की शादी 10 जून 2021 को विरनो क्षेत्र के गजपतपुर गांव निवासी अनीता से हुई थी। शादी के बाद अनीता तीन माह तक ससुराल में रही। उसके बाद मायके चली गई। रमाकांत गुजरात में प्राइवेट नौकरी करने चला गया। वह हर महीने अपनी पत्नी को खर्च के लिए पैसा भेजता था। 15 दिन पहले रमाकांत घर आया तो अनीता भी मायके से ससुराल आ गई। अनीता हमेशा मोबाइल पर फेसबुक, इंस्टाग्राम व वाट्सएप पर व्यस्त रहती थी। इसको लेकर रमाकांत उसे मना करता था।

अक्सर दोनों में झगड़ा होता था

अक्सर दोनों में इस बात को लेकर झगड़ा होता था। बुधवार को अनीता कासिमाबाद कोतवाली पहुंची और पति पर मारपीट करने का आरोप लगाया। पुलिस ने दोनों को समझाने का प्रयास किया। रमाकांत पत्नी को रखना चाहता था, लेकिन अनीता ने बात नहीं मानी। दोनों पंचायत में अलग हो गए। पंचायत के बाद दोनों पक्षों ने शादी में मिले एक दूसरे का सामान वापस कर दिया। पंचायत कराने वालों में हसनपुर के ग्राम प्रधान हरिवंश राम, दुर्गास्थान के प्रधान पति कमला राम, पूर्व प्रधान महेंद्र राम, डा मुखलाल, हरेंद्र राम व श्रवण आदि रहे।

पांच साल का प्यार, 15 माह में टूटा

ग्रामीणों के अनुसार रमाकांत व अनीता का प्रेम विवाह हुआ था। अनीता की मौसी रमाकांत के गांव में रहती थी। जिसके कारण अनीता का वहां आते जाते रमाकांत से आंखें चार हो गई। पांच साल चले प्रेम प्रसंग के बाद दोनों ने शादी की थी, लेकिन मोबाइल के चलते 15 महीने में ही दोनों अलग हो गए।

Edited By: Saurabh Chakravarty

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट