जासं, मलसा (गाजीपुर) : बरसात का पानी पशु अस्पताल परिसर में लगा होने से परेशानी का सबब बना हुआ है। इसके चलते पशुपालकों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। वहीं अस्पताल में रखी दवाइयां व कागजात पूरी तरह से भींग चुके हैं। वहां तैनात चिकित्सकों द्वारा इलाज करने में भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इधर बरसात के मौसम में पशुओं को विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित होने पर उपचार के लिए राजकीय पशु अस्पताल ताड़ीघाट लाने में उन्हें कई बार सोचना पड़ रहा है। इस संबंध में डा. सत्येंद्र ¨सह का कहना है कि बरसात के मौसम में अस्पताल का परिसर पूरी तरह पानी में डूबा रहता है जिससे क्षेत्र के पशुओं का इलाज नहीं हो पाता है। तारीघाट के पशुपालक रजनीकांत, सरदार ¨सह, सरवन कुमार, नरेंद्र कुमार ने संबंधित विभाग से पानी निकालने की मांग की है।

Posted By: Jagran