जासं, मरदह (गाजीपुर) : राशन वितरण में धांधली का आरोप लगाते हुए कार्ड धारकों ने क्षेत्र के पृथ्वीपुर गांव में कोटेदार के खिलाफ बुधवार को धरना-प्रदर्शन किया। उन्होंने कोटेदार के खिलाफ नारेबाजी करते आक्रोश जताया। पुलिस कोटेदार विक्रम राम को लेकर मरदह थाने आई। मौके पर पहुंचे सप्लाई इंस्पेक्टर प्रमोद गुप्ता ने जांच कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद कार्ड धारक शांत हुए।

पृथ्वीपुर के कार्ड धारकों का आरोप है कि राशन वितरण में कोटेदार विक्रम राम धांधली करते हैं। राशन वितरण के दौरान समक्ष अधिकारी को नहीं बुलाया जाता है। आरोप है कि बुधवार को जब वह राशन लेने पहुंचे तो कार्ड पर अगस्त व सितंबर दोनों माह का राशन दर्ज किया जाने लगा जबकि राशन सिर्फ एक महीने का ही दिया जा रहा था। यह देख कार्ड धारक उग्र हो गए। इसे बाद राशन वितरण बंद कर समक्ष अधिकारी को बुलाने की मांग करने लगे। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस कोटेदार विक्रम राम को लेकर मरदह थाने आई। ग्रामीण मरदह थाने पर पहुंच गए। सप्लाई इंस्पेक्टर प्रमोद गुप्ता ने आश्वासन दिया कि जांच के बाद ही राशन वितरण किया जाएगा। इसके बाद ग्रामीण शांत हो गए। प्रदर्शन कर रहे कार्ड धारकों ने आरोप लगाया कि अगस्त का सारा राशन कोटेदार द्वारा बेच दिया गया है। इसकी शिकायत चार सितंबर को तहसील दिवस पर की गई थी। प्रार्थना पत्र देने के बाद पांच सितंबर को सप्लाई इंस्पेक्टर प्रमोद गुप्ता पृथ्वीपुर गांव जांच के लिए पहुंचे थे। उस दौरान 72 राशन कार्ड धारकों ने राशन न मिलने का बयान दर्ज कराया था। मौके पर इंस्पेक्टर ने राशन रखे कमरे में ताला बंद करवाकर स्वयं आकर राशन वितरण करने का आश्वासन देकर चले गए थे। प्रदर्शन करने वालों में शिवदास, अंगद प्रजापति, संध्या देवी, मतिया देवी, सुमन देवी, कुंती, रामजी, नगीना, मुन्ना राम, जानकी देवी, चंदा देवी, सुमन कुशवाहा, महेंद्र मिश्रा, रीमा, लीलावती, प्रकाश राम आदि शामिल थे।

Posted By: Jagran